India

सोनिया गांधी ने इस साल अपना जन्मदिन नहीं मनाने का फैसला किया है, इसकी वजह देश भर मे बढ़ रहे महिलाओं के खिलाफ अपराध और अत्याचार बताया जा रहा है।  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि वह सोमवार को अपना जन्मदिन नहीं मनाएंगी क्योंकि वह इन घटनाओं से दुखी हैं।

देश मे बढ़ते अपराध के ग्राफ पर पूरे देश मे रोष है। सरकार भी स्थिति की गंभीरता को भांप चुकी है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विशेषकर बलात्कार जैसे घृणतम अपराधों के संबंध मे बयान दिया है कि आपराधिक न्याय प्रणाली में देरी पर बहस के बीच आईपीसी और अपराधी दंड प्रक्रिया संहिता सीआरपीसी को देश के औ

चंद्रयान-2 के बाद अब चंद्रयान-3 को इसरो नवंबर 2020 में लॉन्च करने की योजना बना रहा है। इस अभियान की मदद से इसरो चंद्रयान-2 के दौरान पूर्वनिर्धारित अपनी खोज प्रक्रिया को जारी रखने की कोशिश करेगा। इसलिए अभी से इसरो चंद्रयान-3 मिशन की तैयारी कर रहा है।  

महाराष्ट्र के एक प्याज व्यापारी और निर्यातक दानिश शाह कि माने तो ''200 रुपये प्रति किलोग्राम वर्तमान बाजार की स्थितियों का सही संकेतक नहीं है, क्योंकि कई अन्य बाजारों में प्याज़ कि कीमतें वहाँ के तुलना में कम है।

भाजपा सरकार सोमवार को लोकसभा में संशोधन विधेयक पेश करने जा रही है। इस संशोधन के जरिए 31 दिसंबर 2014 तक जो हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध और पारसी बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भारत में आ चुके हैं, उन्हें नागरिकता प्रदान करने की राह खुल जाएगी।

सूत्रो के मुताबिक यह आग सुबह करीब 5 बजकर 15 मिन के आसपास लगी। आग लगने के थोड़ी देर में ही दमकल की 34 गाडियाँ घटनास्थल पर पाहुच गयी थी। आवासीय इलाके में चलाई जा रही फैक्ट्री में आग लगने के समय 50 से अधिक लोग थे।

आये दिन किसी घर, होटल कंपनी में आग लगने की खबर सामने आती रही है। इसी बीच बड़ी खबर हैदराबाद से है जहां तिरुपति बालाजी मंदिर के रसोई घर में आग लगी। घटनास्थल पर काबू पा लिया गया है।

दिेल्ली एनसीआर में आग लगने की घटना कम होने का नाम नहीं ले रही है। आये दिन किसी घर, होटल कंपनी में आग लगने की खबर सामने आती रही है। इसी बीच बड़ी खबर गुरूगाम से है

औरंगाबाद महानगरपालिका में शिवसेना और बीजेपी की सत्ता है। महानगरपालिका का कार्याकाल दो-तीन महीने में खत्म होने वाला है। औरंगाबाद के प्रियदर्शनी उद्यान में बालासाहेब ठाकरे का स्मारक बनाने का प्रस्ताव पहले ही मंजूर किया गया।

भारत सरकार के जनजातीय कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित इस 15 दिवसीय महोत्सव में 500 से अधिक जनजातीय कारीगरों ने 20 करोड़ रुपये का कारोबार किया। इस महोत्सव के दौरान 500 से अधिक जनजातीय कलाकारों ने अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया।