पर्यटन

दुर्गा माता का एक ऐसा मंदिर  है जहां  कोरोना के पहले से ही जाना मना है । इसे शापित मंदिर कहते हैं। और भक्त यहां दर्शन करने से भी कतराते हैं।

जब मनाली से लद्दाख की यात्रा करते हैं, तो  बहुत अधिक ऊंचाई तक जा सकते हैं, लेकिन लेह से मनाली की ओर आते समय यह ऊंचाई कम जाती है।

बीच पर घूमने की इच्छा रखते हैं तो हम कुछ खास जगहों के बीच के बारे में बताने जा रहे हैं जहां जा कर आप बीच का आनंद ले सकते हैं। अक्सर ही लोग समुद्र के किनारे बीच पर ही अपनी छुट्टियों को बिताना चाहते हैं।

कई राज्यों ने पर्यटकों के लिए अपनी सीमाएं खोल दी हैं। जिसके साथ राज्यों ने कई नई गाइडलान्स भी जारी किए हैं।

आज वर्ल्ड टूरिज्म डे है। लोगों को तो बस घूमने का बहाना चाहिए। यह एक ऐसा वक़्त होता हैं जब आप अपनी रोजमर्रा की ज़िन्दगी से थोडा ब्रेक लेना चाहते हैं। ऐसे घुमक्कड़ों के लिए यात्रा का रोमांच ही लग होता हैं।

कोरोना वायरस की वजह से कई देशों ने यात्रा प्रतिबंध लगा रखा है लेकिन ये पाबंदी हटते ही इन देशों की सैर बिना वीजा के झंझट के कर सकते हैं। जानते हैं उन 16 देशों के नाम जहां भारतीय बिना वीज़ा के घूम सकते हैं।

सूर्य नमस्कार और सूर्य को जल चढ़ाने से हर कष्ट का निवारण होता है। शिव की पूजा कर हम प्रकृति के करीब होने का अहसास पाते है। दुनिया में तो कई ऐसे मंदिर जहां कि अपनी विशेषता और खासियत है

वैष्णव संत रामानुजाचार्य स्वामी जिन्होंने समानता की बात की थी उनके जन्म को 1000 साल पूरे हो चुके हैं। हैदराबाद में रामानुजाचार्य का एक विशाल मंदिर बनाया जा रहा है।

मथुरा के अरति गांव के पास राधा-कृष्ण कुंड है। मान्यता है कि भगवान कृष्ण ने जब गायों के झुंड में गाय बनकर घुसे एक राक्षस का वध किया तो उन्हें गौहत्या का दोष लगा। इस दोष को दूर करने के लिए नारद मुनि से पूछा तो उन्होंने उपाय बताया कि एक कुंड का निर्माण करो जिसमें सभी तीर्थों को आने का आमंत्रण दो।

भारतवर्ष की पहचान सांस्कृतिक विविधता एवं उसके पर्व-त्योहार हैं। जो इसे दुनिया के बाकी देशों से अलग एवं अनूठी प्रतिष्ठा देते हैं। दुनिया भर से जिज्ञासु-सैलानी हमारे देश के विभिन्न त्योहारों का आनंद लेने आते हैं। ‘न्यूज़ ट्रैक’ आपको ले चल रहा है ऐसी ही एक अनूठी धार्मिक यात्रा पर जो वैसे तो वर्ष भर जारी रहती है, किन्तु गणेशोत्सव के दौरान इसकी महत्ता एवं वैभव कुछ और ही बढ़ जाता है।