Top

शर्मनाक: ये हैं देश का भविष्य, स्कूल में सुबह प्रार्थना के बजाय टीचर्स खुद लगवाते हैं इनसे झाड़ू

By

Published on 16 May 2017 7:00 AM GMT

शर्मनाक: ये हैं देश का भविष्य, स्कूल में सुबह प्रार्थना के बजाय टीचर्स खुद लगवाते हैं इनसे झाड़ू
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: कहते हैं कि बच्चे देश का भविष्य होते हैं। लेकिन अगर ये भविष्य स्कूल में पढने के बजाय झाड़ू लगाते नजर आएं, तो सोचिए क्या होगा? आगरा में प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को शिक्षा देने की बजाय स्कूल की अध्यापिकाएं बच्चों से झाड़ू लगवाने का काम लेती नजर आईं।

यह हाल देखने को मिला बरौली अहीर ब्लॉक के गुतिला गांव में, जहां प्राथमिक विद्यालय में बच्चों से स्कूल में पढ़ाई से पहले प्रार्थना की बजाय सहायक अध्यापिका बच्चों के हाथों में झाड़ू थमा देती हैं।

-सफाई कर्मचारी के नहीं आने पर विद्यालय के मासूम बच्चे सुबह स्कूल में प्रार्थना करने की बजाय पूरे स्कूल में झाड़ू लगाकर स्कूल की गंदगी को साफ करते हैं।

-गुतिला प्राथमिक विद्यालय में मासूम छात्रा की झाड़ू लगाती हुई तस्वीरें जैसी ही कैमरे में कैद हुईं, वैसे ही बच्चों से बालश्रम करवा रही सहायक अध्यापिकाओ में हड़कंप मच गया।

-कैमरा देखकर अध्यापिकाएं भागने लगी।

-जिन हाथों में सहायक अध्यपिकाओं को कापी और किताबों थमाने के साथ-साथ सुबह भगवान की प्रार्थना करवानी चाहिए थी, वहां स्कूल की सहायक अध्यापिकाएं व्हाट्सएप पर व्यस्त होकर मासूम बच्चों से झाड़ू लगवाकर प्रदेश सरकार के आदेशों की धज्जियां उड़ाती नजर आईं।

Next Story