Top

SRN Gang Rape Case: प्रयागराज में गैंगरेप पीड़िता की मौत, अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर में हुई थी दरिंदगी

SRN gang rape case: एसआरएन अस्पताल में ऑपरेशन के लिए भर्ती मीरजापुर की एक युवती ने डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों पर गैंगरेप का आरोप लगाया था। अस्पताल में भर्ती पीड़िता ने मंगलवार को दम तोड़ दिया।

Network

NetworkNewstrack NetworkAshikiPublished By Ashiki

Published on 9 Jun 2021 2:41 AM GMT

Jalaun Crime News
X

शव की प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्रयागराज: एसआरएन के गैंग रेप आरोप मामले में अब नया मोड़ आ गया है, जहां पीड़िता की इलाज के दौरान मौत हो गई है। दरअसल, प्रयागराज के एसआरएन अस्पताल में ऑपरेशन के लिए भर्ती मीरजापुर की एक युवती ने डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों पर गैंगरेप का आरोप लगाया था। अस्पताल में भर्ती पीड़िता ने मंगलवार को दम तोड़ दिया। पीड़िता ने ऑपरेशन के बाद डॉक्टरों पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था।

बता दें, मिर्जापुर की रहने वाली एक युवती लिवर का ऑपरेशन कराने एसआरएन आई थी, जहां ऑपरेशन के बाद मरीज ने डॉक्टरों पर गलत काम करने का आरोप लगाया था। पीड़िता ने अपने भाई को लिखकर बताया है कि 'डॉक्टर अच्छे नहीं हैं, मेरे साथ गंदा काम किया।' जिसके बाद उसके भाई ने सोशल मीडिया पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए एफआईआर की मांग की थी। पीड़िता के होश में ना होने के कारण एफआईआर नहीं लिखी गई, जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने आनन-फानन में 5 सदस्य जांच टीम गठित कर दिया था और जांच में सारे आरोप निराधार बताए गए थे।

परिजनों ने लगाए ये आरोप

वहीं मंगलवार को पीड़िता की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। अब पीड़िता के भाई ने डॉक्टरों पर साजिश कर हत्या का आरोप लगाते हुए कहा कि 2 दिन से डॉक्टर आ रहे थे और कह रहे थे कि तुम्हारी बहन की सांस की नली खराब हो गई है और ऑपरेशन करना पड़ेगा इसमें उसकी जान जा सकती है और फॉर्म पर साइन करने के लिए कह रहे थे, जिसके बाद परिजनों ने साइन करने को मना कर दिया। परिजनों के अनुसार डॉक्टरों ने बाद में खुद ही कहा था, 'अभी फौरन ऑपरेशन की जरूरत नहीं है'।

एफआईआर दर्ज

अब इस मामले में मृतका के भाई की तहरीर पर एसआरएन अस्पताल के चार चिकित्सा स्टाफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। अभी तक पुलिस सीएमओ की जांच रिपोर्ट का हवाला देकर कार्रवाई कर रही थी, किशोरी की मौत के बाद तुरंत एफआईआर दर्ज कर ली गई। उधर, युवती की मौत के बाद एहतियातन अस्पताल परिसर में फोर्स तैनात कर दी गई है। सीओ कोतवाली सत्येंद्र प्रसाद तिवारी का कहना है कि पंचनामा भरा जा रहा है। शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। मृतका के घर वाले भी इसके लिए राजी हैं।

Ashiki

Ashiki

Next Story