Top

वीडियो: जंजीरों में बांधकर बुजुर्ग को जमकर पीटा, फिर मुंडन करवाकर पोती कालिख, ये है वजह

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 2 Sep 2018 2:12 PM GMT

वीडियो: जंजीरों में बांधकर बुजुर्ग को जमकर पीटा, फिर मुंडन करवाकर पोती कालिख, ये है वजह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलरामपुर: सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मॉब लिंचिंग और अराजक तत्वों द्वारा पीट-पीट कर लोगों की हत्‍या जैसी घटनाओं को रोकने के लिए नोडल अफसरों की तैनाती और उसमें शामिल लोगों पर कड़ी कार्यवाही की बात भले ही करते हों, पर स्थिति धरातल कुछ उलट ही है। यहां किसी को कोई भी आरोप लगा कर भीड़ कभी भी पीट सकती है। ऐसी घटनाएं थमने का नाम नही ले रही हैं।

इस बार खबर यूपी के बलरामपुर जिले की है। यहां थाना देहात क्षेत्र के ग्राम अचानकपुर में अराजक तत्वों ने कैलाशनाथ शुक्ल (70) नाम के बृद्ध शख्स पर छुट्टा जानवर छोड़ने का आरोप लगाकर उसे बुरी तरह मारा पीटा और जब इससे भी भीड़ का मन नही भरा तो उसका सर मुड़वाकर और उसके मुंह पर कालिख पोतकर, जंजीरो से बांधकर पूरे गांव में घुमाया। इस घटना के बाद वृद्ध की मा‍नसिक और शारीरिक हालत दोनों ही खराब हो गई है।

गाय का इलाज कराने जा रहा था वृद्ध

ग्राम लक्ष्मनपुर भवनियापुर निवासी पीड़ित कैलाशनाथ शुक्ला (70) ने बताया कि बीते गुरुवार को वह अपनी गाय का इलाज कराने जुआथान श्रीनगर जा रहे थे। रास्ते में अचानक गाय हाथ से छूट गई और भाग निकली। कैलाश नाथ ने गाय का पीछा किया और उसे पकड़कर ले जाने लगे। इसी बीच अचानपुर नंदनगर गांव के कुछ लोगों ने कैलाश को पकड़ लिया और कहा कि तुम गाय को आवारा छोड़ने आए थे। कैलाश नाथ ने लोगों को गाय का इलाज कराने की बात भी बताई। लेकिन हंगामा बढ़ता हुआ देख लोग दर्जनों की संख्या में हो गए और उनकी एक न सुनी। कैलाश नाथ को भीड़ ने बुरी तरह मारा पीटा। उनका बाल मुड़वाकर चेहरे पर कालिख पोत दी गई। गाय को उनके हाथ में जंजीर से बांधकर सड़क पर घुमाया गया और बाद में उन्हें एक गड्ढे में धकेल दिया गया। जिससे कैलाश नाथ को गंभीर चोटे आई हैं। स्थानीय चिकिसालय में उनका इलाज कराया जा रहा है।

पुलिस पर आरोपियों को बचाने का आरोप

कैलाश नाथ का यह भी आरोप है कि कोतवाली देहात की पुलिस आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है। पीड़ित कैलाश नाथ शुक्ल ने एसपी राजेश कुमार से मामले की जांच कराकर दोषियों को सजा दिलाए जाने की मांग की है।

पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है, फिलहाल दिनेश शुक्ल, उमेश तिवारी, जीवनलाल, ननकने को गिरफ्तार कर जेल रवाना किया जा चुका है शेष की तलाश जारी है।

[playlist type="video" ids="264958"]

sudhanshu

sudhanshu

Next Story