Top

सीएम सिटी गोरखपुर : इश्क की सजा में नाम लिख दी मौत

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 28 May 2018 3:48 PM GMT

सीएम सिटी गोरखपुर : इश्क की सजा में नाम लिख दी मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर : सीएम सिटी गोरखपुर के पिपराइच इलाके में आधी रात के बाद प्रेमिका से मिलने आए प्रेमी की प्रेमिका के परिजनों ने घर से पकड़कर पेड़ से लटकाकर इतनी पिटाई की कि उसकी मौत हो गई। अब पुलिस ने प्रेमिका के परिजनों में से चार को गिरफ्तार कर लिया है, और गांव में तनाव को देखते हुए फोर्स तैनात कर दी गई है।

क्या है मामला

जंगल छत्रधारी के ककरहिया टोला निवासी 20 वर्षीय रमेश लाला बाजार की युवती से करीब दो साल से प्रेम करता था। घरवाले जब शादी को तैयार नहीं हुए। तो एक महीने पहले दोनों घर से भाग गए। पिता ने पिपराइच थाने पर रमेश के खिलाफ बेटी के अपहरण का केस दर्ज कराया था। करीब दस दिन बाद पुलिस ने युवती को बरामद कर लिया। आपसी समझौता के बाद लड़के को छोड़ दिया गया। लेकिन दोनों के बीच प्यार चलता रहा और दोनों चोरी छिपे मिलते रहे।

रविवार की रात भी युवती ने फोन करके रमेश को मिलने के लिए घर पर बुलाया। यह जानकारी युवती के घरवालों को हो गई। उन्होंने रमेश को रंगेहाथ पकड़ लिया। घर में उसकी पिटाई करने के बाद दरवाजे पर आम के पेड़ में उल्टा बांध कर पिटाई करने लगे। युवक चीखता रहा लेकिन कोई उसे बचाने नहीं आया।

इस बीच युवती ने 100 नंबर पर फोन कर इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस जब तक पहुंची युवक अधमरा हो गया था। पुलिसवालों ने पेड़ से रस्सी खोल कर उसे मेडिकल कॉलेज पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद से ही गांव में तनाव है। गांव 4 थानों की पुलिस लगाई गई।

इस संबंध में एसएसपी शलभ माथुर ने कहा कि पुलिस ने युवती के घर के चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

वही मृतक के परिजनो का कहना है कि रमेश लड़की को छोड़ने गया था जिसको लड़की के परिजननो ने पकड़कर हत्या कर दी, पुलिस प्रेमिका के पक्ष की मदद कर रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story