Top

जो देश के लिए दौड़ी, उसे दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, फेसबुकिया प्‍यार में हुआ ये हाल

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 1 Aug 2018 2:46 PM GMT

जो देश के लिए दौड़ी, उसे दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, फेसबुकिया प्‍यार में हुआ ये हाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शामली: नेशनल में दौड़ प्रतियोगिता में प्रथम स्‍थान पर पाकर देश के लिए दौड़ में गोल्‍ड लाने का सपना देखने वाली उड़नपरी को उसके ससुराल वालों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। हम बात कर रहे हैं जिले की सदर कोतवाली में उड़नपरी के नाम से मशहूर मोनिका की, जो बुधवार को अपने ससुराल वालों के सामने हार गई। नेशनल दौड़ प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पाने वाली आज अपने पति, सास और ससुर की प्रताड़ना के आगे हार गई है। मोनिका का रो-रो कर बुरा हाल है। उसने शामली के सदर कोतवाली में जाकर अपनी गुहार लगा कर कहा कि साहब मुझे इंसाफ चाहिए अगर मुझे इंसाफ नहीं मिला तो मैं आत्महत्या कर लूंगी।

फेसबुकिया प्‍यार में मिला फरेबी प्‍यार

बनावटी दुनिया का अंत आखिरकार दुखद ही होता है। फेसबुक पर चंद बातों से खुश लड़कियों का जीवन आखिरकार उन्हें अन्धकार के जीवन की ओर धकेल देता है। जिसका एक जीता जागता उदाहरण उस समय देखने को मिला जब फेसबुक पर हुई दोस्ती के बाद शादी रचाने वाली एक प्रेमिका को उसके ससुरालियों ने मारपीटकर मकान में बंद कर दिया, लेकिन किसी तरह विवाहिता ने वहां से भागकर पुलिस को मामले की सूचना दी।

जनपद गाजियाबाद के मुरादनगर के कुशी थाना क्षेत्र निवासी मोनिका ने अपनी पहचान एक नेशनल खिलाड़ी के रूप में बनायी थी। मोनिका ने उत्तर प्रदेश में आयोजित दौड़ प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त कर अपने माता-पिता व क्षेत्र का नाम भी रोशन किया था। लेकिन फेसबुक पर शामली के कुड़ाना निवासी सोनू पुत्र जितेन्द्र से इश्क शुरू हो गया। देखते ही देखते दोनों ने एक दूसरे के साथ शादी भी कर ली। फेसबुक की बनावटी दुनिया से निकलकर मोनिका ससुराल पहुंची। विवाहिता को एक वर्ष ही बीता था कि ससुरालियों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। जिसके बाद वह अपने मायके भी चली गई थी, लेकिन पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता कराने के बाद उसको पति के साथ भेज दिया था। आरोप है कि मंगलवार को पति तथा ससुरालियों ने मामूली कहासुनी के बाद ही मोनिका की बेरहमी के साथ पिटाई की और कमरे में बंद कर दिया। पीडिता ने किसी तरह वहां से भागकर अपनी जान बचाई। इस मामले की सूचना कोतवाली पुलिस को दी। पीडिता ने आरोपी पति सोनू, ससुर जितेन्द्र, सास सुमन व देवर मोनू को नामजद करते हुए तहरीर दी है। पुलिस ने पीडिता को कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

बच्‍ची से भी किया अलग

नेशनल रेसर मोनिका चौधरी ने रोते हुए बताया कि मेरे साथ मेरे सास ससुर देवर व मेरा पति मारपीट करता है। बैल्टो से पीटाई करता है। हमारी शाद दो साल पहले लव मैरिज हुई थी। और दहेज लाने के लिए मारपीट करते है। और मेरी एक 3 महीने की बच्ची भी है। मुझे उससे भी नही मिलने देते है। और बच्ची को भी मारने की धमकी देते है। और मेरे माँ बाप को गुण्डो से मरवाने की धमकी देते है। कहते है हमारी बहुत खेती की जमीन है। मै कोर्ट कचहरी से नही डरता खेती बेचकर मुकदमें लगा दूंगा ।आज मेरी साथ बैल्टो से मारपीट करके बन्द कर दी थी।आज बडी मुश्किल से अपनी जान बचाकर आई। मुझे इंसाफ चाहिए वरना मै आत्म हत्या कर लूगीं।

पुलिस ने किया पिता के सुपुर्द

एएसपी शामली श्लोक कुमार ने बताया कि थाना कोतवाली में कल एक व्यक्ति ने तहरीर देकर बताया कि उसकी पुत्री को ससुराल में बन्धक बनाकर रखा गया है। इस सम्बन्ध में तत्काल मौके पर पुलिस फोर्स गई और युवती को वहा से लाया गया। और उसके पिता के सपुर्द किया गया। युवती का कहना है। कि वह अपने माता पिता के साथ जाना चहाती है। और वह उसको लेकर चले गये।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story