Top

नकली बेसन बनाने वाली फैक्ट्री पर छापेमारी, चावल, मटर और रंग से करते थे तैयार

By

Published on 20 Sep 2017 7:50 AM GMT

नकली बेसन बनाने वाली फैक्ट्री पर छापेमारी, चावल, मटर और रंग से करते थे तैयार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर: नकली खाद पदार्थ बनाने वाले माफिया आजकल बेहद सक्रिय हैं। इसकी बानगी आप शाहजहांपुर में देख सकते हैं कि जहां लोगों की सेहत से कैसे खिलवाड़ किया जा रहा है? जहां एक तीन बेगम ब्रांड का रैपर लगाकर नकली बेसन तैयार किया जा रहा है।

छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में बोरी में भरा बेसन और तीन बेगम ब्रांड के रैपर बरामद हुए हैं। साथ ही मौके से एक लेबर को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। वही जानकारों की मानें तो बेसन में मिलाए जाने वाले रंग से कैंसर हो सकता है।

यह भी पढ़ें: जयंती नटराजन के ठिकानों पर CBI की छापेमारी, FIR दर्ज

मामला चौक कोतवाली के बिजलीपुरा मोहल्ले की है, जहां रामस्वरूप की फैक्ट्री में जब सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सुमित शुक्ला और खाद विभाग की टीम ने छापा मारा, तो सभी लोग देख कर हैरान रह गए। यहां चावल, मटर और रंग मिलाकर भारी मात्रा से बेसन तैयार किया जा रहा था। छापेमारी के दौरान मौके से एक लेबर को हिरासत में लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें: यूपी में हो रही राशन की कालाबाजारी, गोदाम में हुई छापेमारी ने फोड़ा भांडा

चौकाने वाली बात है कि इस फैक्ट्री में तीन बेगम नाम से ब्रांडेड नकली बेसन तैयार किया जा रहा था। यह बेसन इस जिले के कई जिलो में भेजा जा रहा था। यही नहीं 70 से 80 रुपए किलो बेचे जाने बाले इस बेसन से मोटी कमाई की जा रही थी। जानकार बताते हैं कि इस नकली बेसन में मिलने वाला रंग बहुत ही घातक है। जो खाने वाले को कैंसर रोग देने वाला है। फिलहाल प्रशासन की टीम ने बेसन का सैम्पल लेकर जांच के लिये भेजा है। वहीं नकली बेसन को सीज कर दिया है।

यह भी पढ़ें: बहराइच: खाद्य विभाग की छापेमारी में 290 किलो नकली चाय बरामद

सीओ सिटी सुमित शुक्ला ने बताया कि मोहल्ला बिजलीपुरा में नकली बेसन बनाने की फैक्ट्री चल रही थी। छापेमारी में जिला प्रशासन की टीम और खाद्य विभाग की टीम मौजूद थी। इस मामले में खाद्य विभाग की टीम की तरफ से तहरीर दी जाएगी, जिसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Next Story