Top

एडीएम की पत्‍नी ने कर्नल पर लगाया था छेड़छाड़ का आरोप, मामले की नए सिरे से होगी जांच

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 18 Aug 2018 1:29 PM GMT

एडीएम की पत्‍नी ने कर्नल पर लगाया था छेड़छाड़ का आरोप, मामले की नए सिरे से होगी जांच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: छेड़छाड़ और अपहरण की धारा में केस दर्ज कर सेवानिवृत्त कर्नल को हथकड़ी लगाना पुलिस और वादी पक्ष को भारी पड़ गया है। कर्नल ने जेल से ही मुजफ्फरनगर के एडीएम व उनकी पत्नी समेत छह लोगों के खिलाफ थाना सेक्टर-20 में तहरीर दी है। पुलिस ने तमाम आरोपियों के खिलाफ हत्या का प्रयास, मारपीट समेत कई धाराओं मे मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं, एसएसपी ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखकर सीओ प्रथम, थानाध्यक्ष का तबादला कर दिया है, जबकि चौकी प्रभारी को निलंबित कर दिया है। आरोप है कि पुलिस ने जांच किए बिना ही कर्नल को हथकड़ी लगाकर जेल भिजवा दिया था।

प्रेसीडेंट और पीएम को पत्र लिखकर हुई थी जांच की मांग

मुजफ्फरनगर के एडीएम की पत्नी से छेड़छाड़ और अपहरण करने के आरोप में 76 वर्षीय सेवानिवृत्त कर्नल को गिरफ्तार करने पर पूर्व सैनिकों ने गुरुवार को डीएम, सीएम, पीएम और राष्ट्रपति को पत्र लिखकर न्यायिक जांच की मांग की थी। पूर्व सैनिकों की मांग थी कि तमाम धाराएं हटाकर सेवानिवृत्त कर्नल को तुरंत रिहा किया जाए। एडीएम और उनकी पत्नी पर केस दर्ज किया जाए। एडीएम द्वारा आय से अधिक संपत्ति रखने की जांच की जाए। बिना जांच किए कर्नल को जेल भेजने पर थानाध्यक्ष और सीओ को बर्खास्त किया जाए। पूर्व सैनिक सीपी सिंह, ब्रिगेडियर एनबी सिंह, कर्नल केके बोहरा, कर्नल एसके वैद्य आदि ने डीएम और एसएसपी से मिलकर घटना का सीसीटीवी फुटेज दिखाया था। फुटेज में आलाधिकारियों ने एडीएम और उनकी पत्नी की गलती मानी है।

पूर्व सैनिकों ने बयां की घटना

पूर्व सैनिकों ने अधिकारियों को बताया था कि 14 अगस्त को कर्नल वीरेंद्र प्रताप पार्क में बैठकर आगरा जाने के लिए कैब का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान एडीएम अपनी पत्नी और गनर के साथ पार्क में पहुंचकर कर्नल के साथ अभद्रता और मारपीट करने लगे। महिला ने 100 नंबर पर फोन कर दिया। उसने छेड़छाड़ और अपहरण का फर्जी आरोप लगाते हुए तहरीर दी। एडीएम के दबाव में पुलिस ने जांच किए बिना ही कर्नल को जेल भेज दिया।

ये था मामला

सेक्टर-29 निवासी कर्नल वीरेंद्र प्रताप सिंह पर उनके पड़ोस में रहने वाली एडीएम की पत्नी ने छेड़छाड़, अपहरण और एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज कराया था। घटना के वक्त वह पार्क में बैठे हुए थे। पुलिस ने गिरफ्तार कर उन्हें हथकड़ी लगाकर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। इस वक्त वह जेल में हैं। उनकी अगली सुनवाई 20 अगस्त होगी। उनके जेल जाने के बाद पूर्व सैनिकों में आक्रोश है।

इन पर हुई कार्यवाही

एसएसपी अजय पाल शर्मा ने बताया कि चौकी प्रभारी को निलंबित और सीओ का तबादला कर दिया गया है। एडीएम व उनकी पत्नी समेत छह लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास समेत कई धाराओं में केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story