Top

5 लाख में बच्‍चा बेचने की थी प्‍लानिंग, ऐसे लगी पुलिस को भनक, फिर हुआ ये

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 21 July 2018 11:38 AM GMT

5 लाख में बच्‍चा बेचने की थी प्‍लानिंग, ऐसे लगी पुलिस को भनक, फिर हुआ ये
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर: पानीपत से बच्चा चोरी कर सहारनपुर में पांच लाख रूपये में बेचने की बदमाशों की योजना उस समय विफल हो गई, जब दोनों आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए। बदमाशों ने पुलिस को देखकर टीम पर फायरिंग की, लेकिन पुलिस ने दोनों को दबोच लिया। गिरफ्तारी के बाद बदमाशों ने खुलासा किया कि सहारनपुर में एक तस्कर को पांच लाख रूपये में बच्चे को बेचने का सौदा तय हुआ था।

नानौता थानाध्यक्ष सुधीर कुमार उज्जवल के नेतृत्व में सहारनपुर शामली बार्डर पर सुरक्षा चेकिंग की जा रही थी। क्षेत्राधिकारी गंगोह राजेन्द्र सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि चेकिंग के दौरान शामली की और से आ रहे एक बाइक पर सवार दो युवकों को जब पुलिस ने रूकने का इशारा किया तो दोनों युवक सकपकाकर सहारनपुर की ओर भागने लगे। जिन्हें पुलिस ने कुछ दूरी पर ही घेर कर पकड़ लिया। इस दौरान आरोपियों ने पुलिस पर तमंचे से फायर कर भागने का भी प्रयास किया। परंतु पुलिस ने मुठभेड़ कर हौंसला दिखाते हुए दोनों आरोपियों को धर दबौचा।

डेढ़ वर्षीय बालक को किया था किडनैप

आरोपियों के बीच में एक डेढ़ वर्षीय बालक को कपड़े से ढांककर बैठाया गया था। पुलिस ने बालक को कुशलता से बरामद करने के उपरान्त दोनों आरोपियों मोहसीन पुत्र मुस्तकीम निवासी मौहल्ला बैरी वाली मस्जिद कुडानी रोड, थाना किला जनपद-पानीपत हरियाणा व दूसरे आरोपी शादाब पुत्र इस्लाम निवासी मौहल्ला हाजी कॉलोनी, बबैल रोड थाना किला जनपद पानीपत हरियाणा से सख्ती से पूछताछ की तो दोनों आरोपियों ने पानीपत स्थित राजीव कॉलोनी से बच्चा चुराकर सहारनपुर में बेंचने की बात कही।

पुलिस ने आरोपियों से एक स्पलेंण्डर मोटरसाइकिल, 315 बोर का तमंचा, 02 जिंदा कारतूस, 1 खोखा बरामद किया है। आरोपियों से जानकारी लेकर पुलिस ने अपहृत बालक के परिजनों को फोन पर सूचना दी। सूचना पर पहुंचे बालक के परिजनों ने नानौता थानाध्यक्ष व पुलिसकर्मियों की प्रशंसा की है।

देर रात गायब हुआ था बच्‍चा

पानीपत निवासी अपहृत बालक सागर के पिता ने बताया कि देर शाम करीब 8 बजे सागर अन्य दिनों की भांति घर के बाहर खेल रहा था। साढे आठ बजे तक जब सागर घर के अन्दर नहीं आया तो आप पड़ोस में उसकी तलाश की गई। बच्चा गायब होने की सूचना पर आस-पडोस सहित आस पास के दोस्त सभी सागर को ढूंढने में लग गए। परंतु कोई पता ना चलने पर शंका के आधार पर उन्होंने स्थानीय पुलिस चैकी पर बच्चे की गायब होने की सूचना दी। जिसके आधार पर स्थानीय पुलिस ने वायरलैस सेट पर सूचना प्रसारित की।

सहारनपुर में बच्चा बेचने की थी प्‍लानिंग

पुलिस द्वारा पकडे़ गए दोनों बदमाशों मोहसीन व शादाब ने बताया कि उनकी मुलाकात कुछ दिनों पूर्व पानीपत के गढी बेसक निवासी एक युवक से हुई थी। जिसके बाद उक्त युवक ने उनसे एक बच्चा चुराकर सहारनपुर में सप्लाई किए जाने की बात कही थी। जिसकी एवज में एक मोटी रकम का लेन-देन भी दोनों तस्करों के बीच तय हुआ। बकौल शादाब जैसे ही उसने पानीपत से बच्चा चुराया उसके बाद उसने अपने साथी को फोन पर बताया कि बच्चा चुरा लिया है अब कहां लेकर जाना है। जिसके उपरान्त उसके साथी ने फोन पर ही सहारनपुर निवासी एक युवक का नम्बर देकर कहा कि इस नम्बर पर फोन पर लेना यह व्यक्ति तुम्हे सहारनपुर में बच्चा पहुंचाने का पता बता देगा। आरोपी शादाब के अनुसार उसकी सहारनपुर निवासी उक्त युवक से बात भी हुई। उसे कहा गया था कि तुम बच्चे को लेकर सहारनपुर आ जाओ, उसके बाद फोन कर लेना मैं तुम्हे आकर ले जाऊंगा। बताया गया है कि किसी निस्संतान स्वर्णकार दम्पत्ति के लिए बच्चा चोरी किया गया है। इसी बीच पुलिस द्वारा दोनों आरोपियों को पकड़ लिए जाने पर मामले का पटाक्षेप हो गया।

पांच लाख में लड़का चार लाख में लड़की का सौदा

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों ने पुलिस को बताया है उन्हें एक बच्चा चुराने के एवज में पांच लाख से चार लाख रूपए का लालच दिया गया था। कहा कि यदि लड़का है तो पांच लाख में बिकेगा, यदि लडकी हुई तो चार लाख में। मामले की तह जाने के लिए हरियाणा पुलिस के जवान अग्रिम कार्यवाही के लिए थाने पहुंच गए थे। बताया जा रहा है कि उक्त किस्त के वारदातों को अंजाम देने के लिए यह कोई गैंग भी हो सकता है।

आरोपी है मजदूर, महंगे शौक को पूरा करने के लिए की वारदात

पुलिस मुठभेड़ में पकड़े गए दोनो आरोपी मजदूर तबके से हैं परंतु काफी दिनों से पैसे के आभाव व महंगे शौक के चलते आपराधिक वारादातों के लिए प्लानिंग करने लगे थे। बताया कि शादाब पानीपत स्थित किसी फैक्ट्री में कपडा बुनाई का कार्य करता है। वहीं मोहसीन यूपी के शामली जनपद के कैराना में रहकर गांव दर गांव फेरी लगाने का काम करता है। दोनों आरोपियों के शौक महंगे होने व खर्च ना चलने के कारण दोनों बहुत तंगी में थे। दोनों किसी तरह बडा हाथ मारकर शार्टकट से अमीर होने की फिराक में थे। बताया कि काफी समय से वह कहीं से मोटी रकम हाथ लगने के जुगाड़ में जुटे थे। परंतु पुलिस ने पकड़कर सारा खेल ही बिगाड़ दिया।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story