Top

सोशल मीडिया पर वायरल शराब माफिया का वीडियो, तीन लोगों को नंगा करके हुई पिटाई

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 20 Aug 2018 2:06 PM GMT

सोशल मीडिया पर वायरल शराब माफिया का वीडियो, तीन लोगों को नंगा करके हुई पिटाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में शराब माफियाओं के कहर का एक वीडियो वायरल होने से हड़कंप मचा हुआ है। इस वीडियो में तीन लोगों को नंगा करके पीटा जा रहा है। जिले के पॉश माने जाने वाले सिविल लाइन इलाके की यह घटना बताई जा रही है। इस पूरी घटना में थाना सिविल लाइंस के पुलिसकर्मियों की भूमिका भी सन्दिग्ध है। पीड़ित की पत्नी इस पिटाई की शिकायत करने के लिए सिविल लाइंस पुलिस के पास पहुँची थी, लेकिन पुलिस ने उसे थाने से ही भगा दिया। वायरल वीडियो में पिटते दिखाई दे रहे तीनों लोगों के परिजनों में शराब माफियाओं का खौफ इस कदर है कि वो लोग मीडिया के सामने आने से भी डर रहे हैं। बड़ी मुश्किल से एक व्यक्ति की पत्नी ने पूरी घटना बताई है।

बारी- बारी से बेखौफ की पिटाई

यह घटना दस अगस्त की बताई जा रही है। इस घटना की जानकारी भी लोगों को उस समय लगी जब एक वीडियो तेजी के साथ वायरल हुआ। इस वीडियो में दिख रहे दो युवक पहले से नंगे खड़े दिखाई दे रहे हैं। कुछ देर बाद ही पीछे से कई लोगों की आवाजें आती हैं। वो लोग गाली देते हुए तीसरे व्यक्ति के कपड़े उतार कर पिटाई करने का हुक्म सुनाते हैं। बस फिर मुरादाबाद के सिविल लाइंस इलाके में जैसे तालिबानी सजा शुरू हो जाती है। बारी-बारी से सबकी पिटाई होती है। ऑफिस नुमा बड़े कमरे में सोफे पर बैठे लोग अपने-अपने मोबाइल में पूरी पिटाई को कैद करते हैं। कुछ अन्‍य लोग भी इस पिटाई का वीडियो बनाते हुए वायरल वीडियो में कैद हुए हैं। इस वीडियो के वायरल होने के बाद जब इन तीनों पीड़ितों के बारे में पड़ताल की गई तो पता चला कि जिस व्यक्ति की पैंट उतरवाई जा रही है, उसका नाम प्रमोद कुमार शुक्ला है। प्रमोद सिविल लाइंस क्षेत्र स्थित एक शराब की हट्टी पर सुपरवाइजर है। वह गोविंद नगर क्षेत्र का रहने वाला है।

पड़ताल करते हुए आखिरकार उसके परिजनों से जब मिला गया तो उन्होंने पूरी घटना से ही पर्दा उठा दिया। पीड़ित की पत्नी ममता शुक्ला ने बताया कि उसके पति पिछले चार महीने से पीएसी तिराहे स्थित देशी शराब की हट्टी पर नौकरी कर रहे थे। घटना वाले दिन उन्हें एक साजिश के तहत नवीन नगर वाले ऑफिस पर बुला कर उनके साथ इस तरह से मारपीट की गई। सूचना मिलने पर जब वह वहाँ पहुँची तो वहां पर मौजूद गजेंद्र त्यागी और सर्वेश यादव ने उसे भी गालियां देकर भगा दिया। उसके पति और दो अन्य युवकों पर शराब में चोरी करने का आरोप लगाते हुए जेल भिजवा दिया है।

पुलिस ने नहीं सुनी फरियाद

घटना के तीन चार दिन बाद जब उसे पता चला कि उसके पति की पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है तो वह उस घटना की लिखित में शिकायत करने के लिए सिविल लाइंस थाने भी गई थी। उसे सिविल लाइन पुलिस ने थाने से हड़का कर भगा दिया और वीडियो वायरल होने के बाद अब शराब माफिया के लोग उसके ऊपर दबाव बना रहे हैं कि वह कहीं भी कोई शिकायत न करे। अभी दो दिन पहले कुछ लोगों ने आकर उससे एक समझौतानामे पर साइन कराए हैं। इसी तरह उन दोनों युवकों के परिजनों पर दबाव बनाया जा रहा है। वह चाहती हैं कि जिस फर्जी मुकदमे में उसके पति को जेल भेजा गया है, वह वापस लिया जाये। इसके साथ ही साथ वायरल वीडियो में दिख रहे आरोपियों के खिलाफ सख्‍त कार्यवाही हो।

पीड़ित पक्ष ने सिविल लाइंस थाने पर भी कई सवाल खड़े कर दिए हैं। इस तालिबानी सजा के वायरल वीडियो पर जब सीओ सिविल लाइन से उनका पक्ष जानने की कोशिश की गई तो वो अपनी पुलिस को घिरता देख कैमरे पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुईं। वीडियो देखने के बाद जाँच कराने की बात जरूर कहने लगी हैं।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story