Top

अमेरिका ने फटकारा, तो चीन ने समर्थन में कहा- पाक ने दी हैं बड़ी कुर्बानियां

aman

amanBy aman

Published on 7 Oct 2017 10:45 PM GMT

अमेरिका ने फटकारा, तो चीन ने समर्थन में कहा- पाक ने दी हैं बड़ी कुर्बानियां
X
china, us, recognise, islamabad, efforts,combat terrorism
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पेइचिंग: सत्ता में आने के बाद से ट्रंप प्रशासन पाकिस्तान पर आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई के लिए लगातार दबाव बनता रहा है। पाकिस्तान को अपना सदाबहार सहयोगी कहने वाले चीन ने शनिवार को कहा, कि अमेरिका को आतंकवाद के खिलाफ जंग में उसके प्रयासों को तवज्जो देनी चाहिए। चीन के विदेश मंत्रालय ने अमेरिका के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल जोसफ डनफोर्ड की टिप्पणी के जवाब में ये बातें कही।

जोसफ डनफोर्ड ने कहा था, कि 'पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के आतंकवादी संगठनों से संबंध हैं। ये देखते हुए इस्लामाबाद को अपना बर्ताव बदलना चाहिए।'

ये भी पढ़ें ...ये क्या कह दिया ! ट्रंप अमेरिका के प्रेसिडेंट पोस्ट पर रहने के काबिल नहीं

पाकिस्तान ने दी हैं बड़ी कुर्बानियां

इसी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा, कि 'पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे है।' डनफोर्ड के बयान के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में मंत्रालय ने कहा, कि 'वर्षों से पाकिस्तान ने आंतकवाद के खिलाफ लड़ाई में सक्रिय भूमिका निभाई है। इसके लिए उसने बड़ी कुर्बानियां भी दी हैं।'

अमेरिका के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने सदन की सशस्त्र सेवा समिति को बताया था, कि अमेरिका ने पाकिस्तान को अपना बर्ताव बदलने को कहा है। इस बदले बर्ताव पर वॉशिंगटन इस्लामाबाद के साथ एक बार फिर काम करेगा।

ये भी पढ़ें ...अमेरिका से बोला भारत-अफगानिस्तान में नहीं होगी भारतीय सेना तैनात

अमेरिकी विदेश मंत्री करेंगे पाक की यात्रा

इस पर चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा, हमारा मानना है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को पाकिस्तान के आतंकवाद विरोधी प्रयासों को पूरी तरह मानना चाहिए। हालिया रिपोर्ट्स की मानें तो अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलर्सन पाकिस्तान का दौरा करेंगे। इस दौरान वो वहां के नेताओं को ट्रंप प्रशासन का कड़ा संदेश देंगे। जिसके तहत उन्हें आतंकी समूहों को समर्थन देने की अपनी नीति में बदलाव करना होगा।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story