×

सूट-बूट वालों के लिए काम करती है बीजेपी सरकार: राजबब्‍बर

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 28 Jun 2018 2:07 PM GMT

सूट-बूट वालों के लिए काम करती है बीजेपी सरकार: राजबब्‍बर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: यूपी कांग्रेस अध्‍यक्ष राजबब्‍बर ने गुरूवार को बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला। योगी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इस सरकार में सिर्फ सूट-बूट वालों के लिए काम हो रहा है। लॉ एंड आर्डर की स्थिति बेहद खराब है। इन्‍हीं मुद्दों पर बोलते हुए राजबब्‍बर जमकर बीजेपी पर बरसे। उनके साथ इस प्रेस कांफ्रेंस में प्रवक्‍ता प्रियंका चतुर्वेदी भी मौजूद रहीं।

ये भी देखें: मगहर में योगी ने टोपी नहीं पहनी, विपक्ष ने कहा-पाखंडी

अधिग्रहण कानून कमजोर करने की कोशिश

कांग्रेस अध्‍यक्ष राजबबर ने कहा कि देश में किसानों के अधिग्रहण का क़ानून कमज़ोर करने की कोशिश हो रही है। यूपी में भी कानून को कमजोर करने की कोशिश हो रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ भी कानून को कमजोर करने पर तुले हैं। वहीं प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि भट्टा पारसौल से लड़ाई शुरू हुई थी। तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह के सामने बात रखी गई थी। भूमि वापस मिलने का प्रावधान रखा गया था। भूमि अधिग्रहण कानून बनाया गया। बड़े बड़े वादे करने वाले पीएम ने सब का साथ सब का विकास की बात करने का दावा किया था। लेकिन सूट बूट वाले दोस्तों के लिए पीएम ने कानून बदल दिया।

ये भी देखें: खुलासा : पाक आतंकियों ने की शुजात हत्या, पुलिस ने जारी कीं तस्वीरें

जनता के हितों का हुआ तिरस्‍कार

प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि जनता के हितों का तिरस्कार किया गया है। राहुल गांधी ने मुहिम चलाई और विरोध किया। जो आर्डिनेंस आया वो लोगों के हित में नहीं था। सोनिया गांधी ने पार्लियामेंट से इसके विरोध मार्च निकाला था। बड़ी उम्मीद पर जनता बीजेपी को लाई थी लेकिन इन्‍होंने कुछ नहीं किया। अरुण जेटली अर्थव्यवस्था पर सही बात नहीं करते हैं। ये बिना पोर्टफोलियो के मंत्री हैं। बीजेपी ने राज्यों को कानून में बदलाव का हक दे दिया। गुजरात में किसानों का आंदोलन चल रहा है। तानाशाही बढ़ी हुई है। कानून व्यक़्स्था संभालने के बहाने सब को डरा रहे हैं।

कर्ज माफी का वादा नहीं निभाया

प्रियंका चतुर्वेदी बोलीं कि गन्‍ना किसानों से 14 दिनों में बकाया देने को कहा था। कर्ज माफी का वायदा किया था। लेकिन इनमें से कुछ पूरा नहीं हुआ। यूपी से भूमि अधिग्रहण कानून बना था। यहां से नाइंसाफी शुरू हुई है, यहीं से खत्‍म होगी।

मार्केट रेट नहीं सर्किल रेट पर जमीन खरीदने का क़ानून बन रहा है। इससे किसानों को नुकसान होगा। ग्राम सभा की जमीन लेने की कोशिश है। अपने सूट बूट वाले दोस्तों को देने की साजिश हो रही है। किसानों की जमीन अधिग्रहण की कोशिश हो रही है। किसानों को एक एक रुपया देकर कर्ज माफी की गई है। ये ठीक नहीं है।

कैराना में आए पाक के जिन्‍ना

प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि कैराना के चुनाव में पाकिस्तान से जिन्ना को बुलाया गया लेकिन किसान पाकिस्तान के जिन्ना पर भारी पड़े है। ये अपना मुनाफे का वादा अब भूल गए हैं, अब इनका ज़मीन बेचने का इरादा है। सूटबूट वालों के लिए काम हो रहा है। गरीबों का ख्याल नहीं रखा जा रहा है। हम इस लड़ाई को आगे ले जायेंगे। किसानों की मदद करेंगे।

कबीर को नहीं भूल सकता कोई

प्रियंका बोलीं कि संत कबीर ऐसे व्यक्तित्‍व हैं कि उनको चाह कर भी कोई भी भूल नहीं सकता है। दुख इस बात का है कि जैसे ही चुनाव आता है, सबको उनकी याद आने लगती है। सरदार पटेल की मूर्ति का इंतजार है। संत कबीर के विचारों पर देश कायम है। विवाद बना कर उसे इस्तेमाल करने को कोशिश करते हैं। इससे उन्हें लगता है कि टोपी नही लगा कर एजेंडा सेट किया जाता है। हर मोर्चे पर ये फेल हुए हैं। इस लिए भटकाने की कोशिश हो रही है।

यूपी में नहीं सेफ महिलाएं

प्रियंका बोलीं कि यूपी की जनता ने अजय सिंह बिष्ट को वोट नहीं दिया था। भाजपा को वोट दिया था। महिला सुरक्षा पर वोट दिया था। 2014 में पीएम ने चौकीदार बनने का वादा किया था। सेफ्टी एयर सिक्योरिटी का वादा किया था। लेकिन रिपोर्ट में भारत को असुरक्षित माना गया है। पीएम की कोई उपलब्धि नहीं है। यूपी नंबर 4 से महिला अपराधों में नंबर एक बन गया है। पीएम को ट्वीट कर जवाब देना चाहिए। कश्मीर में बच्ची से रेप हुआ, पीएम खामोश रहे।

उन्नाव में विधायक ने रेप किया। सुषमा स्वराज की ट्रोलिंग हुई है। 41 ऐसे लोग हैं, जिन्हें पीएम फॉलो करते हैं। दलित, महिला और किसान विरोधी हैं। यह सिर्फ सूटबूट वाली सरकार है।

रणनीति के साथ 2019 के चुनाव में उतरेंगे

राजबबर बोले विधान सभा चुनाव में एक प्रयोग था, मकसद बीजेपी को हराना है प्रयोग सफल नहीं हुआ। हमारी पार्टी का गठबंधन बीजेपी को हराने के लिए है। वोटों का विभाजन नहीं होना चाहिए। गोरखपुर और फूलपुर में भी हमने प्रचार नही किया। कैराना में भी गठबंधन के बाद हम ने खुद को पीछे किया। लक्ष्य बीजेपी को हराना था। वही मकसद था। हमने कभी दावा नहीं किया कि हमारी वजह से हारे। हमने कर्नाटक में यही किया है। राजनीति कभी कभी सारे कदम जरूरी नही आगे बढ़े, पीछे भी हटना पड़ता है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story