Top

कोलंबो वनडे : कोहली, रोहित के बाद गेंदबाजों से हारा श्रीलंका

Gagan D Mishra

Gagan D MishraBy Gagan D Mishra

Published on 31 Aug 2017 7:20 PM GMT

कोलंबो वनडे : कोहली, रोहित के बाद गेंदबाजों से हारा श्रीलंका
X
कोलंबो वनडे : कोहली, रोहित के बाद गेंदबाजों से हारा श्रीलंका
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलंबो: पहले मैन ऑफ द मैच कप्तान विराट कोहली (131) और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (104) की बेहतरीन पारियों के दम पर भारत ने श्रीलंका के सामने 376 रनों का विशाल लक्ष्य रखा, फिर अपने गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर उसे 207 रनों पर ही ऑल आउट कर चौथे वनडे में 168 रनों से जीत दर्ज की।

आर. प्रेमदासा स्टेडियम में खेल गए इस मैच में भारतीय टीम पूरी तरह से मेजबान टीम पर हावी रही। बड़े लक्ष्य के सामने श्रीलंकाई बल्लेबाज शुरुआत से ही दबाव में दिखे और इसी कारण पूरी टीम 42.4 ओवरों में ढेर हो गई।

इस जीत के साथ भारत ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में अपने विजयी क्रम को जारी रखते हुए 4-0 की बढ़त ले ली है।

इस हार के साथ ही श्रीलंका को इंग्लैंड में 2019 में होने वाले आईसीसी विश्व कप में सीधे क्वालीफाई कर पाने की उम्मीद को बड़ा झटका लगा है।

कोहली का यह वनडे क्रिकेट में 29वां शतक था। वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाजों के मामले में वह अब तीसरे स्थान पर आ गए हैं। उनसे आगे सचिन तेंदुलकर (49) और आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग (30) हैं। कोहली ने 185 पारियों में इतने शतक लगाए हैं जबकि सचिन ने 29 शतकों के लिए 265 पारी और पोंटिंग ने 330 पारियां ली थीं। उन्होंने इस मामले में श्रीलंका के पूर्व कप्तान सनथ जयासूर्या को पछाड़ा है जिनके नाम वनडे में 28 शतक दर्ज हैं

इसी के साथ कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ अपने 2,000 पूरे कर लिए हैं जिसके लिए उन्होंने 44 पारियां लीं।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका ने शुरुआती दो ओवरों में तो तेजी से रन बटोरे, लेकिन जैसे ही तीसरे ओवर की चौथी गेंद पर अपना पदार्पण मैच खेल रहे शार्दूल ठाकुर ने निरोशन डिकवेला (14) को विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धौनी के हाथों कैच कराया, वैसे ही श्रीलंकाई विकेटों का पतन शुरू हो गया।

68 के कुल स्कोर पर ही उसने अपने चार विकेट खो दिए थे। यहां से एंजेलो मैथ्यूज (70) और मिलिंदा श्रीवर्दने (39) ने टीम को संभालते हुए पांचवें विकेट के लिए 73 रनों की साझेदारी कर टीम को थोड़ी उम्मीद जगाई, लेकिन हार्दिक पांड्या ने 141 के कुल स्कोर पर श्रीवर्दने को धौनी के हाथों कैच करा इस साझेदारी को तोड़ा।

यहां से एक बार फिर श्रीलंकाई बल्लेबाजों के आउट होने का सिलसिला शुरू हुआ जो कप्तान लसिथ मलिंगा के रूप में गिरे आखिरी विकेट पर ही थमा। मैथ्यूज ने 80 गेंदों की पारी में 10 चौके मारते हुए कुछ संघर्ष किया था जो असफल रहा।

भारत की तरफ से जसप्रीत बुमराह, पांड्या और कुलदीप यादव ने दो-दो विकेट लिए। अक्षर पटेल और पदार्पण मैच खेल रहे शार्दूल ठाकुर को एक-एक सफलता मिली। दो बल्लेबाज रन आउट हुए।

इससे पहले, यह भारत ने श्रीलंका के खिलाफ वनडे में अपना तीसरा सर्वोच्च स्कोर है। इससे पहले भारत दो बार श्रीलंका के खिलाफ 400 का आंकड़ा पार कर चुका है। इस मैच में भी जब कोहली और रोहित बल्लेबाजी कर रहे थे तब लग रहा था कि भारत एक बार फिर 400 के आकंड़े को छू लेगा, लेकिन जैसे ही यह दोनों आउट हुए भारत वहां तक नहीं पहुंच सका।

हालांकि अंत में मनीष पांडे ने नाबाद 50 और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने नाबाद 49 रनों की पारी खेलने के साथ ही छठे विकेट के लिए 101 रनों का साझेदारी करते हुए भारत को विशाल स्कोर तक पहुंचाया।

पहला विकेट छह रनों के कुल स्कोर पर शिखर धवन (4) के रूप में गिर जाने के बाद कोहली और रोहित ने दूसरे विकेट के लिए 219 रनों की बेहतरीन साझेदारी कर टीम के विशाल स्कोर की नींव रखी।

कोहली और रोहित ने श्रीलंकाई गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। दोनों ने मैदान के हर कोने में शॉट्स लगाए और मेजबान टीम के गेंदबाजों को एक भी मौका नहीं दिया। शुरुआती ओवरों में श्रीलंकाई गेंदबाजों की जो धुनाई हुई उसके बाद उनका मनोबल गिर गया था जिससे कोहली और रोहित को हावी होने का मौका मिल गया।

कोहली अच्छी लय में थे और उन्होंने इस मैच में श्रीलंका की कमान संभाल रहे लसिथ मलिंगा की गेंद को मारने का प्रयास किया, लेकिन वह सीधे दिलशान मुनरावीरा के हाथों में गई। कोहली मलिंगा का वनडे में 300वां शिकार बने। वह 225 के कुल स्कोर पर आउट हुए। उन्होंने 96 गेंदों का सामना किया और 17 चौके तथा दो छक्के लगाए।

हार्दिक पंड्या 19 रनों का योगदान देकर 262 के कुल स्कोर पर एंजेलो मैथ्यूज का शिकार बने। इसी स्कोर पर रोहित भी पवेलियन लौट लिए। उन्होंने 88 गेंदों की अपनी पारी में 11 चौके और तीन छक्के लगाए। लोकेश राहुल एक बार फिर विफल रहे और सिर्फ सात रन ही बना सके।

यहां से धौनी और पांडे ने टीम की जिम्मेदारी संभाली और 101 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को विशाल स्कोर तक पहुंचाया।

श्रीलंका की तरफ से मैथ्यूज ने दो विकेट लिए। मलिंगा, विश्व फर्नाडो, अकिला धनंजय ने एक-एक विकेट लिया।

--आईएएनएस

Gagan D Mishra

Gagan D Mishra

Next Story