21 days lockdown

बीते 21 दिन कैसे रहे ये जानना बेहद अहम है। शुरुआत में इस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए लॉकडाउन को लेकर आम जनता को कुछ दिक्क़ते आई, हालाँकि सरकार के बड़े फैसलों, पुलिस प्रशासन की दिन रात की मेहनत के बाद लॉकडाउन इतना भी मुश्किल नहीं रहा।

देशव्यापी लॉक डाउन की वजह से तमाम महिलाओं को घरेलु हिंसा का शिकार होना पड़ रहा है। इस ओर ध्यान देते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने सख्त कदम उठाया है...

लॉकडाउन के दौरान यूपी के कन्नौज सदर तहसीलदार पर राशन वितरण में हीलाहवाली का आरोप लगाकर किए गए हमले के मामले में मंगलवार की देर रात कोतवाली में...

करोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देशभर में महत्वपूर्ण फैसले लिए जा रहे हैं। लेकिन इसी बीच बचाव कार्य में जुटे कर्मचारियों के साथ अभ्रदता की भी खबरें...

लोगों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए शासन से बजट आ गया है। जरूरतमंदों की मदद के लिए आलाधिकारियों के आदेश आ रहे हैं, लेकिन....

इस महीने तीन दिनों तक जिलेभर की उचित दर विक्रेताओं के यहां से 54037 परिवारों को फ्री में गेहूं-चावल बांटा गया। कुल 161512 परिवारों को लाभ दिया गया है...

कोरोना महामारी को लेकर 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है। कई जगह से दैनिक जरूरत वाली वस्तुओं के अधिक रेट लेने की शिकायतें आ रही हैं। इस बीच कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए...

देश व्यापी लॉकडाउन में कोरोना वायरस रोकने की बजाय कुछ गोरखधंधा करने वाले लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। इसकी जानकारी होने पर गांव की महिलाएं सड़क पर आ गईं...

देशभर में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। जिसे देखते हुए सरकार द्वारा पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की गई है। इसी क्रम में...

लॉकडाउन में जरूरतमंदों की मदद को समाजसेवियों ने हाथ आगे बढ़ाए हैं। बिना भेदभाव के मदद का सिलसिला शुरू हो गया है। इसमें दलीय सीमाएं भी टूट गई हैं। कई जनप्रतिनिधियों व व्यापारियों ने सामग्री मुहैया करा दी है...