aazam khan

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के नेता विरोधी दल राम गोविंद चौधरी ने आरोप लगाया है कि पार्टी नेता मो. आजम खां को हराने के लिए रामपुर के प्रशासनिक अधिकारी किसी भी हद तक जा सकते हैं। इनके रहते रामपुर में निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकता है। श्री चौधरी का यह बयान मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पार्टी का ज्ञापन सौंपने के बाद दिया है।

भाजपा की सरकार बनने के बाद से ही आजम खां पर प्रदेश सरकार की निगाहें टेढ़ी रही है। रामपुर में जौहर विश्वविद्यालय के मामले में आजम पर जमीन कब्जा करने समेत कई आरोप लगे है और स्थानीय प्रशासन इसकी जांच भी कर रहा है। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है आजम की मुश्किले भी बढ़ती जा रही है।

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान की बहन निकहत अफलाक को पुलिस द्वारा कथित तौर पर जबरन थाने ले जाने की बात सामने आई थी । थाना गंज पुलिस पर ये आरोप लगा है । मामले में बहन नसरीन ने बताया कि निकहत अपने घर में खाना खा रही थीं । तभी दो महिला पुलिस वाली आईं और उन्हें बुर्का भी नहीं पहनने का मौका दिया और अपने साथ ले गईं ।

याची का कहना है कि चान्सलर आजम खां से राजनितिक वैमनस्यता के कारण कार्यवाही की जा रही है। राज्य सरकार के अपर महाधिवक्ता अजीत कुमार सिंह का कहना है कि पुलिस ने चोरी की एफआईआर की विवेचना के तहत मजिस्ट्रेट के साथ छापा डाला और चोरी का सामान भी बरामद किया है। सारी कार्यवाई कानूनी प्रक्रिया के तहत की गयी है।

रामपुर के थाना सिविल लाइंस में भारतीय जनता पार्टी के नेता व पूर्व मंत्री शिवबहादुर सक्सेना के बेटे आकाश सक्सेना ने मंगलवार को तहरीर दी जिसमें कहा गया है कि पूर्व मंत्री आजम खान के बेटे और सपा विधायक अब्दुल्ला आजम ने असत्य और कूटरचित दस्तावेज के आधार पर पासपोर्ट बनवाया है।

लीज कैंसिल किए जाने के लिए रामपुर जिला अधिकारी द्वारा संस्तुति की गई थी। यह दो बड़े भवन मदरसा आलिया और मुर्तुजा स्कूल के भवन थे, जिन्हें जौहर ट्रस्ट को लीज़ पर दे दिया गया था और इनमें रामपुर पब्लिक स्कूल और आजम खान की राजनीतिक गतिविधियां संचालित की जा रही थी ।

लखनऊ। विधान परिषद में शून्य काल में समाजवादी पार्टी के नेता आजम खां से जुड़े जौहर विश्वविद्यालय का मुद्दा उठा। सपा सदस्यों ने सरकार पर भेदभाव व विद्वेषपूर्ण कार्रवाई का आरोप लगाया। सपा सदस्यों का कहना था कि सरकार अनावश्यक प्रताड़ित करने के लिए फर्जी मुकदमें दर्ज कर रही है। सरकार ने विपक्ष के आरोप को खारिज कर दिया।

पूर्व मंत्री के बेहद करीबी पूर्व क्षेत्राधिकारी आले हसन खां पर मुकदमा आयद किया गया है। आले हसन खां को गिरफ्रतार करने पहुंची पुलिस ने उनके बेटे को हिरासत में ले लिया। वहीं पूर्व सीओ आले हसन खां की पत्नी ने पुलिसिया कार्यवाही को नाइंसाफी बताते कहा कि उन्हें ईमानदारी से ड्यूटी निभाने का यह सिला मिल रहा है।

रामपुर से बीजेपी उम्मीदवार जय प्रदा के खिलाफ आजम खान के बयान पर अखिलेश यादव ने कहा, आजम खान के किसी शब्द को उठा करके काफी चर्चा की गई है। समाजवादी पार्टी ने हमेशा महिलाओं का सम्मान किया है।