atal bihari vajpayee

वह 2009 में हुए आमचुनाव में कर्नाटक के बैंगलुरू दक्षिण चुनाव क्षेत्र से 15वीं लोकसभा के लिए सदस्य निर्वाचित हुए थे। मोदी सरकार में उन्हें रसायन और उर्वरक मंत्रालय और संसदीय मामलों का मंत्री पद मिला।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जो सपना सरदार पटेल का था, बाबा साहेब अंबेडकर का था, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का था, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों का था, वो अब पूरा हुआ है। अब देश के सभी नागरिकों के हक़ और दायित्व समान हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई के राजधानी में अस्थि विसर्जन कार्यक्रम का पूरा खर्च सूचना विभाग लखनऊ विकास प्राधिकरण को देगा। शासन स्तर पर निर्णय के बाद सूचना विभाग की ओर से एलडीए को इस सम्बन्ध में पत्र लिखकर अवगत करा दिया गया है।

बीजेपी के चाणक्य कहे वाले अमित शाह को मोदी सरकार में गृह मंत्रालय का कार्यभार मिला है। इसके बाद अमित शाह मिशन कश्मीर मोड में नजर आ रहे हैं, लेकिन इस बीच खबर है गृहमंत्री अमित शाह को पूर्व प्रधानमंत्री का बंगला मिल सकता है।

देश के गृहमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जल्द ही अपने नए बंगले में शिफ्ट होंगे। यह बंगला भी कोई छोटा मोटा बंगला नहीं बल्कि पार्टी के संस्थापकों में  से एक और भाजपा को विशिष्ट पहचान दिलाने वाले स्व अटल विहारी वाजपेयी वाला बंगला है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस बार अमेठी के साथ वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं। राहुल के दो सीटों पर चुनाव लड़ने पर बीजेपी अमेठी से भागने का आरोप लगा रही है। अब ऐसे में हमने सोचा कि मौका भी है दस्तूर भी है तो पता करें कि कौन से नेता रहे हैं जिन्होंने एक से अधिक सीट पर चुनाव लड़ा।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कश्मीर मसले पर बोलते हुए पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी पर आरोप लगाया कि अटल बिहारी वाजपेयी की गलत नीतियों के चलते ही जम्मू-कश्मीर में हालात बिगड़े। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस हमेशा जम्मू-कश्मीर के हालात सुधारने की कोशिश करती रही, लेकिन वाजेपयी की गलत नीतियों के चलते आज वहां हालात बिगड़े हैं।

कानपुर: भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी को संबोधित स्लोगन “अजेय भारत, अटल भाजपा” की होर्डिंग बीजेपी ने पूरे शहर में लगवाई है। इस होर्डिंग में सबसे खास बात यह है कि स्थानीय नेताओं द्वारा अटल बिहारी बाजपेयी की तश्वीर को जगह नही दी गयी। बीते 25 दिसंबर को भाजपा ने उनका जन्मदिन को पूरी …

यह सुखद संयोग है कि ईसाई धर्म के संस्थापक प्रभु ईशा मसीह, महामना मदन मोहन मालवीय और अटल बिहारी वाजपेयी की जन्मतिथि एक ही है। वाजपेयी राजनीति के महानायक तथा देश के सर्वमान्य नेता थे। दल के लोग उनकी प्रशंसा करें तो स्वाभाविक है पर अटल जी की स्तुति विपक्षी दल के नेता भी करते हैं।

 पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती के एक दिन पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने वाजपेयी के सम्मान में 100 रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया। संसद भवन एनेक्सी में कार्यक्रम के दौरान मोदी ने कहा, वाजपेयी ने पार्टी की विचारधारा से कभी समझौता नहीं किया और हमेशा राष्ट्र हित में बोले।