Ayodhya verdict

उत्तर प्रदेश सरकार ने फैसले के मद्देनजर अयोध्या समेत पूरे प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी है। वहीं उत्तर प्रदेश के सभी स्कूल-कॉलेजों सहित सभी शिक्षण संस्थान को शनिवार से सोमवार 11 नवंबर तक बंद रखने का आदेश दे दिया गया है। इस संबंध में सभी डीएम को सूचना भेजी जा रही है।

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। सबसे पहले चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ( सीजेआई) रंजन गोगोई ने शिया वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज करने की बात बताई थी।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि मुस्लिम पक्ष जमीन पर दावा साबित करने में नाकाम रहा है। मुस्लिमों को दूसरी जगह 5 एकड़ जमीन दी जाए। विवादित जमीन रामलला की है।

अयोध्या फैसले को देखते हुए प्रदेश में धारा 144 लागू है। इसके साथ ही फैसला सुनाने वाले मुख्य न्यायधिशों को z प्लस सुरक्षा दी गई है। साथ ही साथ सुप्रीम कोर्ट की भी सुरक्षा बढ़ाई गई है। सुप्रीम कोर्ट की सुरक्षा में लगे अर्ध्दसैनिक बलों की संख्या में कई गुना ईजाफा किया गया है।

सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए जिले को तीन सेक्टर में बांटा जाएगा। सामान्य, संवेदनशील और अतिसंवेदनशील। इनके लिए क्षेत्र चिह्नित किए जा रहे हैं। सभी सेक्टर में पुलिस के साथ ही मजिस्ट्रेट भी तैनात रहेंगे। अयोध्या शहर की निगरानी इस समय ड्रोन से की जा रही है।

अयोध्या मामले और आर्टिकल 370 को लेकर पिछले कुछ समय से नेपाल बॉर्डर आतंकी गतिविधियां काफी तेज हो गई हैं। इसकी वजह से सरकार अलर्ट पर है।

अयोध्या में विवादित ढांचे को लेकर मंगलवार से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो रही है। ये मामला न सिर्फ हिंदुओं बल्कि मुस्लिम समाज के लिए भी महत्वपूर्ण है। इ