BHU

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी अपने संसदीय आते हैं, बनारसी उनका जोरदार इस्तकबाल करते हैं। इस बार भी कुछ ऐसा ही नजारा दिखेगा। बीएचयू से जंगमबाड़ी के बीच...

साझा संस्कृति मंच वाराणसी और जॉइंट ऐक्शन कमेटी BHU के तरफ से साझे बयान में यह स्पष्टीकरण जारी किया जा रहा है कि हम लोग बनारस शहर में आगामी 16 फरवरी, 2020 को माननीय प्रधानमंत्री जी के आगमन पर किसी भी प्रकार के विरोध कार्यक्रम का हिस्सा नहीं है।

इस संबंध में परिसर के प्रशासनिक भवन स्थित समिति कक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता में आचार्य प्रभारी प्रोफ़ेसर रमा देवी निम्मनापल्ली ने बताया कि पहली बार युवा महोत्सव क्रीड़ा संकुल में वृहद रूप से आयोजित किया जा रहा है।

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के कुलपति राकेश भटनागर के खिलाफ छात्रों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। वीसी पर हिंदी विरोधी होने का आरोप लगाने वाले छात्र अब पोस्टरबाजी पर उतर आए हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को वाराणसी पहुंची, इस मौके पर कांग्रेस नेता अजय कुमार लल्लू भी उनके साथ रहे। हालांकि इस दौरानर अजय कुमार लल्लू के साथ हादसा हो गया।

एनयू विवाद को लेकर बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में सोमवार को दोपहर से लेकर शाम तक बवाल चलता रहा। एक तरफ एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया।

UIET के डायरेक्टर प्रोफेसर आरए खान ने इस एमओयू के विभिन्न आयामों से सभी को अवगत  कराया और कहा कि इस एमओयू के बाद BBAU के विद्यार्थी IIT BHU जा कर वहां की कक्षा और प्रयोगशाला का प्रयोग कर सकेंगे। वहां के संसाधनों का प्रयोग और शिक्षकों का मार्गदर्शन उन्हें प्राप्त होगा। इसके साथ ही हम फैकल्टी एक्सचेंज प्रोग्राम भी इस एमओयू के माध्यम से कर सकेंगे।

यूं तो काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की गिनती देश के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थाओं में होती है, लेकिन हाल के दिनों में पढ़ाई से ज्यादे मारपीट और विरोध-प्रदर्शन के किस्से सुर्खियां बनते हैं।