cbi grip tighten

पट्टे के लिए मंत्री जी का फोन ही काफी होता था महीने के शुरुआत में एक फोन जाता कि फलां की ट्रकें अब पास होंगी। इस काम के एवज में लाखों रुपये प्रतिदिन आते थे। जब कोई दूसरा मिल गया तो उसके लिए फोन चला जाता।