CMYogi

योगी आदित्याथ ने कृषि विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से किसानों के खेती के विविधीकरण हेतु प्रशिक्षण दिलाये जाने पर भी बल दिया है। उन्होंने बताया कि ग्राम्य विकास विभाग की ओर से कोविड केयर फण्ड में 3 करोड़ 70 लाख रुपये की धनराशि दी गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूरों को अवश्य क्वारंटाइन कराया जाए। क्वारंटीन में भेजने से पूर्व सभी श्रमिकों की मेडिकल जाँच भी सुनिश्चित करायी जाए। क्वारंटीन सेण्टर्स में एनसीसी के प्रशिक्षित स्वयंसेवक तैनात किए जाएं।

अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने इन सभी 40 जिलों के जिलाधिकारियों एवं पुलिस प्रमुखों को पत्र लिखकर कहा है कि इन जिलों में आपसी तालमेल कर जमातियों  के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

सीएमओ के आदेश में फार्मेसिस्ट पप्पू कुमार सिंह और अतुल चौधरी की ड्यूटी प्रातः आठ बजे से  अपरान्ह तीन बजे तक तथा फार्मेसिस्ट हरेन्द्र एवं अनन्त राम की ड्यूटी तीन बजे से रात दस बजे तक लगाई गयी है।कहा गया है कि वह प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह के बंगले पर आने जाने वाले आगुन्तकों का थर्मल स्कैनिंग करेंगे।

टीकमगढ़ में फँसे थे गर्भवती महिला समेत यूपी के 88 लोग, जानकारी मिलते ही सीएम योगी ने लगाई अधिकारियों की टीम, घर पहुँचे लोगों ने कहा धन्यवाद योगी जी। पढ़िये पूरा मामला और वह आवेदन जिसका हुआ ऐसा जोरदार असर

अवनीश अवस्थी ने बताया कि कोरोना से निपटने के लिए सरकार त्रिस्तरीय व्यवस्था कर रही है। पहले सीएचसी स्तर पर जानकारी दी जाएगी, फिर जिला अस्पताल स्तर पर पहुंचाया जाएगा, फिर उसके बाद बड़े अस्पतालों में शिफ्ट कर उनको स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएंगी।

सीएम ने बैठक बुला कर अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। पीएम के निर्देश का अक्षरशः पालन सुनिश्चित किया गया है। मूल्य निर्धारण पर विशेष तौर पर बल दिया गया है। कम्युनिटी किचन को चालू करने के निर्देश दिये गए हैं। 5000 ई-रिक्शा से घर-घर सामान भेजा जाएगा। 12000 वाहनों से घर-घर डिलीवरी की व्यवस्था की गई है।

सांसद और विधायक निधि जनप्रतिनिधियों को दी जाने वाली राशि होती है जिसका इस्तेमाल संसदीय व विधानसभा क्षेत्रों में स्थाई कामों के लिए होता है। कोरोना वायरस के बढ़ते फैलाव और संक्रमण को देखते हुए विभिन्न क्षेत्रों से यह मांग उठ रही थी कि इस निधि का उपयोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में करने की अनुमति होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुरू की श्रमिक भरण-पोषण योजना, 20 लाख से ज्यादा मजदूरों को भेजी गई 1 हजार रुपये की पहली किस्त, पल्लेदारों, रिक्शा और ई-रिक्शा चालकों को भी दिया जाएगा भरण-पोषण भत्ता,  नि:शुल्क राशन भी उपलब्ध करा रही है प्रदेश सरकार

यहां लोकभवन में गुरुवार को व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास और श्रम एवं सेवा योजन विभाग की तरफ से आयोजित ‘कौशल सतरंग’ कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि यह कार्यक्रम उत्तर प्रदेश के युवाओं के रोजगार और स्वरोजगार को समर्पित है। ‘कौशल सतरंग’ के सात घटकों को एक साथ मिलाकर आयोजित किया गया यह कार्यक्रम सराहनीय है।