Corona virus vaccine

बाजार में आने से पहले ही कई धनी देशों ने बड़े स्तर पर कोरोना वायरस वैक्सीन की बुकिंग कर ली है। जिसे देखकर माना जा रहा है कि गरीब देश और आबादी तक वैक्सीन की पहुंच दूर रहने वाली है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन के लिए आवश्यक वैक्सीनेटर्स तैयार करने के लिए आज से प्रशिक्षण की कार्यवाही शुरू की जा रही है। इसे प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए, ताकि इन्हें कोरोना वैक्सीनेशन से सम्बन्धित आवश्यक प्रशिक्षण मिल सके।

देश में अब जल्द ही कोरोना वायरस की स्थिति सुधरने की उम्मीद जताई जा रही है। अमेरिका में फाइजर वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी जा चुकी है। इस वैक्सीन के 95 फीसदी प्रभावी होने का दावा किया जा रहा है।

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने कार्यकाल के पहले 100 दिन में तीन महत्वपूर्ण लक्ष्य रखे हैं। इसमें सौ दिन में 10 करोड़ लोगों को वैक्सीन सुनिश्चित कराने का भी लक्ष्य शामिल है।

सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया ने DCGI से कोविड-19 वैक्सीन 'कोविशील्ड' के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत मांगी है। ऐसा करने वाली सीरम देश की पहली स्वदेशी कंपनी बन गई है। 

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज (Anil Vij) स्वदेशी कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी कोविड-19 संक्रमित हो गए हैं। अब AIIMS के पूर्व निदेशक एमसी मिश्र ने इसकी वजह बताई है।

कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर भारत में काम तेज़ी से चल रहा है। वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी वैक्सीन को लेकर देश की जनता को देने की रणनीति पर नज़र बनाए हुए हैं।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज खुशखबरी देते हुए सभी भारतवासियों को राहत दी है। पीएम मोदी ने कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर सभी दलों के नेताओं को ताजा जानकारी दी है।

कोरोना काल में जहा करोड़ों लोगों ने अपनी जान गवई हैं। वही इस बीच कोरोना वैक्सीन से जुड़ी अच्छी ख़बरें भी सामने आई।अब वो दिन दूर नहीं जब कोरोना वैक्सीन आम लोगों तक पहुंच पायेगी।

दिल्ली एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कोरोना वायरस वैक्सीन पर बड़ी खुशखबरी दी है। उन्होंने बताया कि इस महीने के अंत या अगले महीने की शुरुआत में वैक्सीनाइजेशन की इजाजत मिल सकती है।