Gorakhpur Mahotsav

मुख्यमंत्री गोरखपुर महोत्सव-2020 के समापन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने ‘मंथन’ तथा महोत्सव की स्मारिका का विमोचन किया। इसके अतिरिक्त, उन्होंने महोत्सव/मेला परिसर में लगे स्टॉल, प्रदर्शनी तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी अवलोकन किया।

गोरखपुर महोत्सव का दूसरा दिन पूरी तौर पर माटी की बोली यानी भोजपुरी के नाम रहा। भोजपुरी नाइट में पद्मभूषण लोक गायिका शारदा सिन्हा ने मंच पर लोकगीतों की ऐसी प्रस्तुति की कि माटी की सोंधी खुशबू से महोत्सव का आंगन महक उठा।

गोरखपुर : 11 जनवरी से 13 जनवरी तक आयोजित गोरखपुर महोत्सव आज खत्म हुआ। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे। महोत्सव के समापन अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान करने वालों को सम्मानित किया गया। इस मौके पर पुस्तक मंथन का विमोचन भी किया गया। ये …

अजीब विडंबना है कि जहां एक ओर तंबाकू से जुड़े उत्पादों से होने वाली बीमारियों और इसकी रोकथाम के लिए सरकार लाखों करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। वहीं सीएम नगरी में हो रहे गोरखपुर महोत्सव में धूम्रपान निषेध की छोटी होर्डिंग के साथ महोत्सव के सहप्रयोजक के रूप में एक गुटखा कंपनी का बड़ा सा स्टॉल कहीं न कहीं लोगों को पान मसाला खाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की मजबूरी है कि सत्ता और सत्ता का खेल जरूरी है। सत्ता के खेल का रंग-रूप बदलता है, पर चरित्र वही रहता है। उत्तर प्रदेश में चुनाव में हर पार्टी विकास की बात करती है और सत्ता में आते ही रंग बदल कर पुराना खेल शुरू कर देती है। कोई स्मारक बनवाता है …

लखनऊ : नौकरशाही किसी चीज में किस तरह पलीता लगा सकती है इसे जानना समझना हो तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर महोत्सव पर नजर डालनी होगी। इस महोत्सव का थीम सॉंग ‘नाथ योगी’ इन दिनों इंटरनेट पर खूब पसंद किया जा रहा है। गोरखपुर की नौकरशाही ने मुख्यमंत्री और उनकी टीम को …