gujarat

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व नेता विधानमंडल दल ने मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी को पत्र में लिखा है कि वैश्विक महामारी कोरोना के चलते देश में लाकडाउन लगाया गया है। जिसके कारण अलग-अलग राज्यों में लोग फंसे हुए है।

गुजरात विधानसभा के 2017 के चुनाव में भाजपा नेता और शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ासमा की जीत को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी। मंगलवार को हाईकोर्ट ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से फैसला सुनाया।

देश में कोरोना का पहला केस मिलने के बाद 101 दिन का समय पूरा हो चुका है और पूरा देश इन दिनों एकजुट होकर इस वायरस के खिलाफ संघर्ष में जुटा है।

कोरोना वायरस देश में तेजी से फैल रहा है। इस महामारी से निपटने के लिए देश में लाॅकडाउन है। अब इस बीच कोरोना पर राजनीति भी खूब हो रही है। कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। अब कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर एक आरोप लगाया है।

शुक्रवार को गुजरात के दाहोद जिले की उप-जेल से तकरीबन 13 विचाराधीन कैदी फरार हो गए हैं। सभी कैदी अपनी कोठरी के ताले तोड़कर जेल से फरार हो गए हैं।

लॉकडाउन के चलते कई लोग और मजदूर अपने राज्यों से दूर दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं। वहीं इस बीच गुजरात के सूरत से खबर आ रही है कि वहां मजदूरों ने घर वापसी को लेकर जमकर हंगामा किया।

लॉकडाउन पर देखरेख करने वाले पुलिसकर्मियों पर हमले बंद ही नहीं हो रहे हैं। गुजरात के सूरत शहर के एक इलाके में मंगलवार सुबह लॉकडाउन का पालन कराने की कोशिश कर रहे सुरक्षा कर्मियों पर कुछ स्थानीय लोगों ने कथित तौर पर पत्थर फेंके।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की टेक्निकल और एमर्जिंग डिजीज की मुख्य डॉक्टर मारिया वान करखोवे ने बताया, “लैब्स के ग्लोबल नेटवर्क और न्यूरोलॉजिस्ट्स के पास ऐसा कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।

देश में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर महाराष्ट्र के बाद गुजरात में दिख रहा है। यहां अभी तक इस वायरस ने 300 से ज्यादा लोगों की जान ले ली है और करीब साढ़े तीन हजार लोग इस वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं।