gujarat

बारिश की वजह से लोगों का बुरा हाल तो हुआ ही है लेकिन इस वजह से जानवार भी बहुत परेशान है। खबर गुजरात के जूनागढ़ से आ रही है जहां 7 शेरों के झुंड हो रोड पर टहलता देखा गया। जिसका वीडियो काफी वायरल हो रहा है।

मानसून सितंबर महीने में कई राज्यों में कह ढा रहा है। भारी बारिश की वजह से मध्य प्रदेश और गुजरात में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। बता दें कि मानसून आम तौर पर देश से सितंबर के पहले पखवाड़े से लौटने लगता है, लेकिन इस बार कई राज्यों में आफत की बारिश हो रही है।

सड़क पर एक बार में थ्री-व्हीलर फ्लाइंग कार 1287 किलोमीटर चल सकती है, जबकि एक बार में 482 किलोमीटर तक ये कार हवा में उड़ सकती है। फ्यूल टैंक की बात करें तो वह 100 लीटर का होगा।

गुजरात सरकार ने केंद्र सरकार के नए मोटर व्हीकल एक्ट में बदलाव किया है। प्रदेश सरकार के मोटर व्हीकल संशोधन अधिनियम में बदलाव से लोगों को थोड़ी राहत मिली है।

गुजरात के सूरत से किन्नरों की गुंडागर्दी का एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां बच्चे के जन्म लेने पर किन्नरों को मनचाहा नेग नहीं मिलने पर नवजात बच्चे के पिता को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया।

गुजरात के अहमदाबाद में बड़ा हादसा हो गया है। यहां के अमराईवाड़ी इलाके के बंगलावाली चाली में एक तीन मंजिला इमारत गिर गई। इस हादसे में कई लोगों के फंसे होने की आशंका है। मौके पर दमकल विभाग की टीम पहुंच गई है। राहत और बचाव कार्य चलाया जा रहा है।

देश के गुजरात राज्य से एक चौकाने वाली खबर सामने आई है। गुजरात राज्य से सटे बॉर्डर से कुछ मकानों पर पाकिस्तान का झंडा लहरा रहा है। मकान ही नहीं, मंदिरों के शिखरों पर भी देवी या देवता के झंडे के साथ पाकिस्तानी झंडा दिख जाता है। गुजरात राज्य से पाकिस्तान का जो बॉर्डर कच्छ के पास जुड़ता है।

केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में बारिश और बाढ़ का कहर बना हुआ है जिस वजह से 241 लोगों की जान जा चुकी है। मौसम विभाग ने राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और मध्य प्रदेश में भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

बारिश और बाढ़ से प्रभावित कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश में हालात बहुत खराब हो गए है। बाढ़ चार राज्यों में इस प्राकृतिक आपदा में अब तक 125 लोगों की मौत हो चुकी है। कर्नाटक में बाढ़ से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। महाराष्ट्र के सांगली में भी हाहाकार मचा हुआ है।

देश के कई राज्यों में बारिश और बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है। केरल, गुजरात, कर्नाटक, महाराष्ट्र में अब तक 108 लोगों ने अपनी जान गवां दी है। सिर्फ केरल में ही मृतक संख्या 42 हो गई है, वहीं करीब एक लाख लोगों को राज्य के बाहर 800 से अधिक राहत शिविरों में भेजा गया है।