indian economy

मोदी ने अर्थशास्त्री के साथ बैठक की नई दिल्ली। 2020 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मैराथन बैठक की। इसके बाद अर्थशास्त्री चरण सिंह का कहना है कि ग्रामीण इलाकों में खर्च बढ़ाए जाने की जरुरत है। ना कि इनकम टैक्स में रियायत दी जाए। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा है कि अगर सरकार …

नए ऑर्डर मिलने से उत्पादन में आए उछाल के चलते दिसंबर में पीएमआई 7 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। जिसके कारण आईएचएस मार्किट इंडिया मैन्यूफैक्चरिंग का पर्चेजिंग मैनेजर्स सूचकांक दिसंबर में बढ़ कर 52.7 रहा। मई महीने के बाद यह सबसे ऊपर है।

दिल्ली: भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि को रफ्तार देने के लिए मोदी सरकार लगातार प्रयासरत है। इसी कड़ी में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) की मुख्य अर्थशास्त्री और शोध विभाग की निदेशक गीता गोपीनाथ से मुलाकात की। पीएम की अध्यक्षता में सीसीआईजी की पहली बैठक बता दें कि बीते दिन मन्त्रिमंडल की निवेश और …

नई दिल्ली: देश की आर्थिक व्यवस्था को रफ्तार देने के लिए केंद्र की मोदी सरकार सक्रिय है, जिसे लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मंत्रियों के साथ एक अहम बैठक करने वाले हैं। इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी मंत्रियों के साथ आर्थिक वृद्धि को रफ्तार देने के लिए ‘कमेटी ऑफ़ इन्वेस्टमेंट एंड ग्रोथ’ पर चर्चा करेंगे। …

दिन प्रतिदिन बढ़ती मंहगाई ने लोगों का बजट बिगाड़ दिया है। लोगों ने प्याज की बढ़ती कीमत से परेशान उसे खाना छोड़ दिया है तो अब खाने के तेल के दामों में भी वृद्धि हो रही है। इससे महंगाई भी जोर पकड़ती जा रही है। जो कीचेन का जायका बिगाड़ने के लिए काफी है।

अर्थव्यवस्था में आई इस गिरावट को बड़ा मुद्दा बनाते हुए मोदी सरकार की आलोचना केवल राजनीतिक दल ही नहीं बल्कि फिल्मी सख्शियतें भी कर रही हैं। इस लिस्ट में ऐक्टर प्रकाश राज का भी नाम जुड़ गया है।

30 अगस्त को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीतारमण ने 10 सरकारी बैंकों के विलय से चार बड़े बैंक बनाने की घोषणा की थी। इस दौरान यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक का पंजाब नेशनल बैंक में विलय होने की घोषणा की गई थी।

साल 2017 से तेल की कीमतें लगातार तेजी से बढ़ रही थीं। मई 2018 में कर्नाटक चुनाव के दौरान ब्रेंट क्रूड के दाम तो 80 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गए थे। देश में तेल के दाम इतने बढ़ गए थे कि केंद्र सरकार को इसपर लगे टैक्स में दो बार कटौती करनी पड़ी थी।

निर्मला सीतारमण ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि सरकार अर्थव्यवस्था से जुड़ी दिक्कतों और चिंताओं को दूर करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने ये भी कहा कि भारत की ग्रोथ सही ट्रैक पर है। साथ ही, इकॉनमिक रिफॉर्म्स भी जारी रहेंगे।

उधर, फ्रांस की अर्थव्यवस्था साल 2018 में 7.33 फीसदी बढ़ी। यह साल 2017 से 2.48 फीसदी ज्यादा है। जी हां, साल 2017 की अर्थव्यवस्था 4.85 फीसदी थी। विश्व बैंक के ताजा आकड़े कहते हैं कि ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था 2018 में 2.82 ट्रिलियन डॉलर हो गयी है।