indian economy

अब तक का सबसे लंबा बजट भाषण वित्तमंत्री रहते हुए मनमोहन सिंह ने दिया था। तत्कालीन वित्तमंत्री मनमोहन सिंह ने 1991 में 18,177 शब्दों का सबसे लंबा बजट भाषण दिया था। वहीं, सबसे छोटा भाषण 1977 में एचएम पटेल ने पेश किया था। एचएम पटेल ने 800 शब्दों का सबसे छोटा बजट भाषण दिया था।

सरकारी खर्च में कमी के प्रभाव को ठोस निवेश ने बेअसर कर दिया। इसे सार्वजनिक खर्च से भी समर्थन मिला।बैंक ने कहा कि 2018 में चीन की आर्थिक वृद्धि दर 6.60 प्रतिशत रही। इस दर के गिरकर 2019 में 6.20 प्रतिशत, 2020 में 6.10 प्रतिशत और 2021 में 6 प्रतिशत पर आ जाने का अनुमान है।

लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भाजपा की जीत पर रिपोर्ट में कहा गया है कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के लिए आर्थिक परिदृश्य सकारात्मक नजर आता है। 2019-23 के दौरान सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की औसत वृद्धि दर सात प्रतिशत के आसपास रहने का अनुमान है।

मार्च में होने वाली बैठक का मकसद ब्याज दरों के अलावा अर्थव्यवस्था को गति देना भी है। इस पर विस्तृत चर्चा करने के लिए गवर्नर ने व्यापार संगठनों के साथ रेटिंग एजेंसियों को भी बातचीत में शामिल किया है।

मुंबई : केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था के सामने जो चुनौतियां हैं, वे मुख्य रूप से विदेशी कारकों जैसे तेल की कीमतों में वृद्धि और अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध से पैदा हुई हैं। लेकिन भारत का समष्टिगत मौलिक घटक उन चुनौतियों का सामना करने के लिए काफी मजूबत है। चालू …

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को ना सिर्फ मोदी सरकार की नीतियों पर हमला किया, बल्कि इस बार उन्होंने अपनी शादी और स्पोर्ट्स को लेकर भी जवाब दिया।

वर्ल्ड बैंक ने कहा है कि इंडियन इकोनॉमिक ग्रोथ में सुस्ती कुछ वक्त की बात है। लेकिन इतना तय है कि इससे इंडियन इकॉनमी सकारात्मक असर पड़ेगा।

बीते सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में सकारात्मक वैश्विक संकेतों के कारण तेजी देखी गई। शुक्रवार को गणेश चतुर्थी के कारण शेयर बाजार बंद रहे। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 71.38 अं

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (15 अगस्त) को कहा, कि सरकार ने कालाधन जमा करने के लिए बनाई गई तीन लाख से भी अधिक फर्जी कंपनियों का पता लगाया है। पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने भाषण में कहा, ‘कालेधन के खिलाफ अभियान में कई फर्जी कंपनियों का पता चला …

सरकार द्वारा बुधवार (31 मई) को जारी आंकड़ों के अनुसार नोटबंदी के बाद मार्च 2017 तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर घटकर 6.1% रही, जो दिसंबर तिमाही में 7% थी।