indo china

चीन ने पाकिस्तान के साथ मिल कर भारत की पश्चिमी सीमा के पास बड़ा कदम उठाया है। ख़ुफ़िया सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर के सामने सीमा के उस पार यानी पाकिस्तानी क्षेत्र में चीन ने अपने टेक्नीशियनों की मदद से सर्विलांस सिस्टम लगाया है।

आपको बता दे कि इस घाटी में नदी के पास टेंट लगाने को लेकर भारत और चीन सीमा पर गंभीर तनाव की स्थिति बन चुकी है। भारतीय अफसर और 2 जवानों की मौत के बाद सीमा पर तनाव और ज्यादा बढ़ गया है।

चीनी सैनिक भारतीय सीमा के इतने करीब एक एयर बेस प्रोजेक्ट के नाम पर पहुँच गए। ट्रकों से इतनी बड़ी संख्या में चीनी सैनिकों की भीड़ बॉर्डर पर पहुँचने पर इंडियन आर्मी पर चकरा गयी कि उनके सुरक्षाबलों की तुलना में चीनी सैनिक यहां ज्यादा बल में कैसे पहुंच गए।

चीन भारत के साथ अपने रिश्ते खराब कर रहा है। सीपीईसी प्रोजेक्ट के जरिये पीओके तक पहुंचने की फिराक में लगा चीन अब लद्दाख में घुसपैठ कर रहा है।

अक्साई चिन ये शब्द बहुत कम ही लोगों ने सुना है या यूँ कहें बहुत ही कम लोग इसके बारे में जानते होंगे। तो आज हम बताते है आपको इसके बारे में। यह पाकिस्तान और भारत के संयोजन में तिब्बती पठार के उत्तरपश्चिम में स्थित एक विवादित क्षेत्र है। यह कुनलुन पर्वतों के ठीक नीचे स्थित है।

कोलकाता: तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने गुरुवार को भारत और चीन के रिश्तों के आगे ले जाने के लिए ‘हिंदी-चीनी भाई भाई’ के भाव की पहचान और सम्मान को बढ़ावा देने की बात कही। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर चीन द्वारा आपत्ति जताए जाने के सवाल पूछे जाने पर दलाई …