LAC

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर बढ़ते तनाव के बीच भारत ने चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी कर ली है। सरकार की ओर से...

पीएमओ की ओर से जारी बयान में कहा गया, '' भारतीय क्षेत्र कितना है यह भारत के नक्शे से स्पष्ट है, जिसके प्रति यह सरकार दृढ़ता से संकल्पबद्ध है।

लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच बढ़े तनाव पर चीन ने अपनी प्रतिक्रया दी है। चीन ने कहा कि उन्होंने मौजूदा समय में किसी भी भारतीय सैनिक को हिरासत में नहीं लिया है।

चीन की नापाक हरकतों वाली इन सैटेलाइट तस्वीरों को Planet Lab Inc ने जारी किया है। तस्वीरों में चीन के बुलडोजर वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) काम करते दिख रहे हैं। बुलडोजर का इस्तेमाल नदी के बहाव को प्रभावित करने के लिए हो रहा है।

भारत की तरह से शहीद सैनिकों की पूरी लिस्ट जारी की गयी लेकिन चीन अपने सैनिकों को लेकर खामोश रहा। सवाल ये है कि चीन ने इस मामले में चुप्पी क्यों साधे रखी?

राहुल ने भारतीय सैनिकों के सीमा पर बिना हथियार होने पर सवाल उठाया था, जिसपर विदेश मंत्री ने स्पष्ट किया कि सैनिकों के पास हथियार थे और उनको सीमा पर निहत्था नहीं भेजा गया। 

झूठे दोगलेबाज चीन ने एक बार फिर भारत के ऊपर गलत आरोप लगाए हैं। चीन ने भारतीय सैनिकों पर वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को पार करने का अनर्गल आरोप लगाया है। जबकि खुद-ब-खुद चीन ही धोखेबाज है। 

चीन के विदेश मंत्रालय से बड़ी खबर आ रही है। अभी-अभी चीनी विदेश मंत्रालय ने बॉर्डर पर झड़प को लेकर बयान जारी किया है। चीन की तरफ कहा गया है कि भारत के साथ अब और अधिक झड़प नहीं चाहते हैं।

भारत ने सेना को फैसला लेने की पूरी छूट दे दी है। बता दें कि चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक सेना को अपने हिसाब से फैसला लेने की छूट गई है।

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच खूनी टकराव और कई सैन्य कर्मियों की मौत पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने चिंता जताई है।