latest hindi news uttar pradesh

लॉक डाउन के चलते जहां आम आदमी को खाने पीने की समस्याओं से दो चार होना पड़ रहा है वहीं दूसरी ओर कुछ समाजसेवी जो जरूरतमंदों की हर संभव मदद कर रहे हैं इसी को देखते हुए एक 4 साल की बच्ची जिसने दरियादिली दिखाई।

कोरोना पीड़ित बॉलीवुड सिंगर कुनिका कपूर की पांचवी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। हांलाकि अभी वह कुछ दिन अस्पताल में ही रहेंगी। जब उनकी छठी रिपोर्ट भी नेगेटिव आएगी तभी उनको डिस्चार्ज किया जाएगा।

यूपी में कोरोना संक्रमण से प्रभावित लोगों की कुल संख्या 227 हो गयी हे। इन 227 में से 94 मामले तब्लीकी जमात के है। 2 दिनों में तबलीगी जमात की वजह से मामले अचानक बढ़े।

कोरोना का भीषण आंतक अब आगरा में तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। मार्च में यहां संक्रमितों का आंकड़ा इतना नहीं था, जितना की अब बढ़ना शुरू हुआ है। 

दुनिया में भारत एक ऐसा देश है जो विभिन्नताओं से भरा हुआ है और फिर जब बात यूपी की हो तो फिर तो क्या ही कहना। विभिन्न संस्कृतियों वाले इस प्रदेश में हर सुख दुख को लोग अपने ढंग से जीते है।

आज 1 अप्रैल है।मूर्ख दिवस। लेकिन कोरोना वायरस के चलते इसे  नहीं मनाया जा रहा है। एक अप्रैल को ये गाना सभी की जुबान पर रहता है 'अप्रैल फूल बनाया तो उसको गुस्सा आया, इसमें मेरा क्या कसूर जमाने की है भूल जिसने दस्तूर बनाया '  april fool यानि 1 अप्रैल।

कोरोना से यूपी के बुलंदशहर जिले के एक व्यक्ति में संक्रमण पॉजिटिव आया है। ये व्यक्ति बुलंदशहर के खुर्जा का रहनेवाला है। गम्भीर बात तो ये है कि इस व्यक्ति की पत्नी और 3 सालो की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

चिनहट चौराहे पर लगी लोगों की भीड़, इन लोगों को सरकारी बसों द्वारा दिल्ली से लाकर यहां छोड़ दिया गया । इसके बाद से ही यह लोग काफी परेशान है कि यह अपने गंतव्य तक किस प्रकार जाएं।

बिधूना कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत गुरुवार की देर रात अज्ञात वाहन की टक्कर से चौकी इंचार्ज सुजानपुर की मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे अधिकारियों ने मामले की जांच करते हुए उनके शव का पंचनामा करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए चिचोली भेजा है।

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने एलान किया है कि लॉकडाउन के दौरान बोर्ड की किसी भी मस्जिद में जुमे या रोजाना की नमाज जमात में नहीं पढ़ी जायेगी। शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने शुक्रवार को बताया कि शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने अपने सभी मुतवल्ली को अवगत करा दिया है कि किसी भी मस्जिद लॉकडाउन के दौरान जुमे की नमाज या रोजमर्रा की नमाज जमात के साथ नहीं पड़ी जाएंगे।