latest hindi news uttar pradesh

लोकसभा चुनाव समाप्त होने के बाद से ही ईवीएम विपक्ष के निशाने पर हैं। बंगाल से लेकर केरल कश्मीर से लेकर यूपी तक विपक्ष ईवीएम को लेकर अपनी आशंका जता रहा है। कार्यकर्ता स्ट्रांग रूम के बाहर जमे हैं। इसी बीच राष्ट्रीय जनता दल ने सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें शेयर की हैं। जिनमें एक मिनी ट्रक में ईवीएम लदी नजर आ रहीं हैं।

शुक्रवार शाम से सातवें व अंतिम चरण के मतदान के लिए प्रचार समाप्त हो जाएगा और इसके साथ ही चुनावी बोल बचन से भी मुक्ति मिलेगी। प्रचार समाप्त होने की समय सीमा के नजदीक आते ही सभी राजनीतिक दलों ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने मंगलवार देर रात जेईई मेन 2019 के पेपर-2 (आर्किटेक्चर कोर्स) का रिजल्ट घोषित कर दिया। इस रिजल्ट में जेईई मेन (जनवरी) और जेईई मेन (अप्रैल) में आयोजित परीक्षाओं के आधार पर पेपर-2 (आर्किटेक्चर कोर्स) की रैंकिंग जारी की गई है।

धर्मग्रंथों के अनुसार जिस घर में तुलसी का पौधा होता है वहां रोग, दोष या क्लेश नहीं होता वहां हमेशा सुख-समृद्धि का वास होता है। इसीलिए प्रतिदिन तुलसी के पौधे की पूजा करने का भी विधान है। प्राचीन काल से ही यह परंपरा चली आ रही है कि घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए।

21 मई को मतगणना से पहले कांग्रेस विपक्ष को एकजुट दिखाने और राष्ट्रपति से मिलने की रणनीति तैयार कर रही थी लेकिन। टीएमसी सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने इसमें शामिल होने से इंकार कर दिया है, वहीं बसपा और सपा ने फिलहाल कोई जवाब नहीं दिया है।

लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए दिल्ली समेत 7 राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर वोटिंग हो रही है। इस राउंड में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी, राधामोहन सिंह, हर्षवर्धन, ज्योतारादित्य सिंधिया जैसे दिग्गज चेहरों की चुनावी किस्मत का फैसला होना है।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने 68500 सहायक अध्यापक भर्ती में पिछले पांच वर्षाें से प्रदेश का निवासी होने की अनिवार्यता के 8 अगस्त 18 के शासनादेश के उपखण्ड दो को असंवैधानिक घोषित कर दिया है और दूसरे प्रदेशों के चयनित निवासियों की नियुक्ति के लिए काउंसिलिंग कराने का निर्देश दिया है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने राज्य सरकार से आशियाना सामूहिक दुराचार पीड़िता को डेढ साल तक राजकीय बालिका बालगृह में रखे जाने के मामले में पूछा है कि पीड़िता को अब तक मुआवजा दिया गया अथवा नहीं।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने केंद्रीय माल एवं सेवा कर अधिनियम की धारा 129 व धारा 130 की वैधानिकता की चुनौती याचिका पर दो सप्ताह में केंद्र व राज्य सरकार से हलफनामा माँगा है। अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल ने याचिका की पोषणीयता पर यह कहते हुए आपत्ति की कि जब्ती आदेश की चुनौती याचिका पहले ही खारिज हो चुकी है।

सिब्तैनाबाद मस्जिद : माह ए रमजान का पहला इफ्तार करते रोजेदार