latest uttar pradesh news

25 नवम्बर को प्रस्तावित धरना प्रदर्शन को लेकर संगठन के महामंत्री गिरीश मिश्र एवं प्रवक्ता जसवंत सिंह ने बताया कि धरना-प्रदर्शन एक साथ 75 जिलों में आयोजित किया जा रहा है।

शराब कांड को बेहद गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अपनाया है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। मुख्यमंत्री ने इस घटना में सभी सम्बन्धित की जवाबदेही तय करते हुए इनके खिलाफ कठोर दण्डात्मक कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हैं।

लखनऊ विश्वविद्यालय का शताब्दी वर्ष समारोह 19 नवंबर से जोर-शोर से मनाया जा रहा है। विश्वविद्यालय परिसर को दुल्हन की तर्ज पर रंग-बिरंगी झालरों से सजाया गया है। मुख्यमंत्री से लेकर राज्यपाल तक विश्वविद्यालय परिसर में पहुंच चुके हैं।

लायन्स क्लब इण्टरनेशनल के तत्वाधान में लायन्स क्लब झाँसी सेवा, झाँसी द्वारा डिस्ट्रिक गवर्नर लॉ नवीन गुप्ता की अध्यक्षता,  सदर विधायक रवि शर्मा के मुख्य आतिथ्य, प्रदीप सरावगी पूर्व महानगर अध्यक्ष भाजपा, लॉ राजीव बब्बर वाइस डिस्ट्रिक गवर्नर प्रथम  के विशिष्ठ आतिथ्य में प्रिन्ट मीडिया एवं इलैक्ट्रॉनिक मीडियाकर्मियों का सम्मान समारोह होटल चन्दा में आयोजित किया गया।

महंत नृत्य गोपाल दास की तबीयत एक बार फिर बिगड़ गई है उन्हें एंबुलेंस से अयोध्या से लखनऊ लाया जा रहा है। विहिप के मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि उन्हे सांस लेने में दिक्कत हो रही है। इसके अलावा सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हे लखनऊ लाया गया है।

हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच हाथरस मामले पर आज सुनवाई पूरी की। इस दौरान राज्य सरकार के अधिकारियों ने कोर्ट में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। अब इस मामले की अगली सुनवाई 25 नवम्बर को होगी। कोर्ट में सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की तरफ से एक हलफनामा भी पेश किया गया।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि आज प्रदेश चौतरफा अव्यवस्था से जूझ रहा है। विकास अवरुद्ध है, जनता आर्थिक रूप से टूट चुकी है, छात्र नौजवान बेरोजगारी की मार झेल रहे है।

अयोध्या में राम मंदिर के पक्ष में फैसला आने के बाद उत्साह पूर्वक राम मंदिर निर्माण कार्य शुरू हो चुका है और उत्साह रामभक्तों में है जिसके लिए सभी अयोध्या आना चाहते हैं वहीं इस बार देश की सबसे बड़ी रामलीला अयोध्या में आयोजित की जा रही है।

उत्तर प्रदेश में अपराधियों को सजा दिलाने का कार्य अब तेज गति से किया जा रहा है। ऐसे ही हाथरस के एक मामले राज्य में सरकार ने दोषी को दंड दिलाने का काम किया है।

भैंस के आगे बीन बजाए, भैंस खड़ी पगुराय। यह कहावत तो सभी ने सुनी होगी । राजनीतिक दलों के विरोध प्रदर्शनों के दौरान अक्सर इस कहावत का इस्तेमाल किया जाता है।