#LokSabhaElection2019

कानपुर में बीजेपी कार्यकर्ता पूरे शहर में ढोल नगाड़ों के साथ जश्न मना रहे है । चारो तरफ हर-हर मोदी घर-घर मोदी के नारे लग रहे है। कार्यकर्ता घर-घर जाकर मिठाई खिला रहे है। चारो तरफ आतिशबाजी का माहौल है सभी के हाथों में बीजेपी का झंडा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पोस्टर लेकर घूम रहे है।

अभी कुल 35 या 37 राउंड चलना है, आप सोच सकते हैं, जीत गोरखपुर की कितनी ऐतिहासिक होगी, जो मैं पहले दिन से आप लोगों से कह रहा था, क्योंकि मैं घूमता था, पूरे देश की जीत हम पहले से कह रहे थे, ऐतिहासिक रूप में मोदी जी सरकार बनाने जा रहे हैं, लोगों को यहां पर लगता था ।

केरल की वायनाड लोकसभा सीट 2008 में अस्तित्व में आई थी। तब से अब तक इस सीट पर कांग्रेस का ही कब्जा रहा है। इस सीट के तहत 7 विधानसभा सीटें आती हैं। ये सातों विधानसभा सीटें मनंथावाड़ी, सुल्तानबथेरी, कल्पेट्टा और कोझीकोड जिलों में पड़ती हैं।

लोकसभा चुनाव के लिए मतगणना जारी है। यूपी के शाहजहांपुर में रौजा मंडी समिति में मतगणना स्थल बनाया गया है। लेकिन आज यहां का पारा 42 डिग्री तक पहुच गया है। ऐसे में कर्मचारियों का हाल बेहाल है। भीषण गर्मी के चलते कर्मचारियों की हालत बिगड़ती जा रही है।

इंतजार की घड़िया खत्म हो चुकी हैं। देश भर में वोटों की गिनती शुरू हो गई है। फाइनल नतीजे आने में थोड़ी देरी हो सकती है, जैसा कि चुनाव आयोग पहले ही घोषित कर चुका है।

23 मई को भारत में 17वीं लोकसभा के नतीजे आने वाले हैं। इन नतीजों का जितना भारत के लोगों को इंतजार है उससे कहीं ज्यादा बेचैन इस समय पड़ोसी देश पाकिस्तान है।

मतगणना से पहले मतगणना अधिकारी और प्रत्याशी या उनके मतगणना एजेंट ईवीएम की जांच और निरीक्षण करते हैं। वे ईवीएम की सील देखते हैं और किसी तरह की छेड़छाड़ की संभावना को भांपते हैं।

इंतजार की घड़ियां खत्म हो चुकी हैं और देश भर में मतगणना शुरू हो गई है। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए 543 में से 542 सीटों पर हुई वोटिंग के बाद आज मतगणना का दिन है, जिसकी पूरी तैयारी हो चुकी है।

प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व फिरोजाबाद लोकसभा सीट के उम्मीदवार शिवपाल यादव बुधवार को शिकोहाबाद में मतगणना को लेकर अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रहे थे।

भाकपा के सचिव अतुल कुमार अंजान ने बुधवार को कहा कि लोकसभा चुनाव में मतदान के बाद ईवीएम के साथ छेड़छाड़ और मशीनों की स्थानांतरण प्रक्रिया पर उठे सवालों को आयोग ने सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि आयोग की कार्यप्रणाली ने लोकतंत्र के लिए गंभीर चुनौती पैदा कर दी है।