-most-pure-women-of-hindu-religious news

दीपावली के दिन हर तरफ साफ-सफाई के साथ दीयों की रौशनी से हर कोना जगमगा उठता है।  दीपावली के दिन लक्ष्मी-गणेश पूजन के साथ, कई जगहों पर ताश खेलने की परंपरा है तो साथ में पटाखें फोड़कर खुशी जाहिर की जाती है। इसी तरह दीपावली पर रात में एक परंपरा होती है हुक्कापाती की।

बढ़ती तकनीक और सोच के बाद भी आज हमारे समाज में संस्कारों का स्तर अभी भी एक ही जगह तक सीमित हैं। बेटियों को मां-बाप बचपन से सीख सिखाने लगते हैं कि बिटिया ऐसे काम न करों, वैसे काम न करों। तुम्हें दूसरें घर जाना हैं क्या ऐसे ही वहाँ जाकर नाक कटाओगीं।

इनके अलावा भी हिन्दू धर्म ने अलग अलग समय पर भगवान के अलग अलग अवतारों ने जन्म लिया, जिन्होंने अपने आदर्श आचरण से उच्च स्थान  समाज में बनाया और लोगों के बीच पूजनीय बने।  ऐसी ही 5 पौराणिक महिलाओं के बारे में जिन्होंने अपने पतिव्रता धर्म से एक नया आदर्श स्थापित किया।