onion

बेंगलुरु के कुछ होटलों ने प्याज की बढ़ती कीमतों की वजह से प्याज वाला डोसा बनाना बंद कर दिया है। बंगलूरू होटल्स एसोसिएशन का कहना है कि हमने कीमतों में बढ़ोतरी के कारण प्याज का उपयोग कम कर दिया है।

प्याज के आसमान छूते दाम ने लोगों के सामने नई मुसीबत खड़ी कर दी है। थाली से प्याज गायब होता देख लोगों का गुस्सा भी धीरे-धीरे सामने आने लगा है। नौबत यहां तक आ पहुंची है कि वाराणसी में लोन पर प्याज बिक रहा है।

आम आदमी की थाली में हमेशा रहने वाला प्याज अब अमीरों का भोजन हो गया है। प्याज इतना महंगा हो चुका है कि आम लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया है। प्याज कई जगहों पर 90 रुपये किलो तो कई जगहों पर 100 रुपये किलो तक पहुंच गया है।

पश्चिम बंगाल हल्दिया में एक दुकान के यहां मंगलवार को चोरी हुई, मजेदार बात है कि चोर ने लेकिन कैश में हाथ तक नहीं लगाया। दुकान से चोरी हुआ 50,000 रुपये का लहसुन, अदरक और प्याज। प्याज की कीमतें 100 रुपये किलो तक पहुंचने पर दुकानदार ने दुकान में ये सब जमा कर लिया था। ताकि बाद में प्रॉफिट मिल सके लेकिन चोरी ने उसके होश उड़ा दिए।

आसमान छू रहे प्याज की कीमतों पर काबू पाने के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने बैठक बुलाई। बता दें कि पिछले दो माह से देश में लगातार प्याज के भाव बढ़ रहे थे। दरअसल, केन्द्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की अगुवाई में उच्च स्तरीय बैठक बुलाई।

बांग्लादेश में प्याज की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुकी है। कभी 25 रुपए प्रति किलो बिकने वाला प्याज अब 220 रूपए प्रति कोल प्याज बिक रहा है। बांग्लादेश सरकार को प्याज आयात करना पड़ रहा है। कीमतें आसमान पर पहुंचने की वजह से लोगों की थाली से प्याज करीब-करीब गायब हो चुकी है।

प्याज की बढ़ी कीमतों से जनता परेशान हैं, तो वहीं इसकी बढ़ती कीमतों को लेकर अब केंद्र सरकार भी सक्रिय हो गई है। प्याज की बढ़ती कीमतो पर केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बुधवार को सचिवों के साथ बैठक की।

प्याज एक ऐसी चीज है जिसका हर सब्जी में इस्तेमाल किया जाता है। चाहें हम वेज बनाए या नॉन-वेज लगभग हर डिश में इसका इस्तेमाल होता है।

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने प्रदेश की जनता को प्याज कम कीमत पर उपलब्ध कराने हेतु प्रदेश के समस्त जनपदों में पर्याप्त प्याज विक्रय केन्द्र स्थापित कराकर प्याज की बिक्री कराने के निर्देश दिये हैं।

लगातार बढ़ रही प्याज की कीमतों के बीच केंद्र की मोदी सरकार ने तत्काल प्रभाव से प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच घरेलू बाजार में इसकी उपलब्धता बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया गया है।