PSU bank

सरकारी बैंकों ने पिछले साढ़े 3 साल में 10 हजार करोड़ रुपये की रकम जनता से वसूली है। यह रकम बचत खाते में मिनिमम बैलेंस न रखने और मुफ्त नकद निकालने की मासिक सीमा से अधिक बार एटीएम से विद्ड्रॉल पर लगने वाले चार्ज के जरिए बैंकों ने बटोरा है। केंद्र सरकार ने यह संसद में दिए गए डेटा में दी है।

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के पुनर्पूंजीकरण के लिए 2.11 लाख करोड़ रुपए की योजना बैंकिंग प्रणाली की हालत और देश के आर्थिक भविष्य की रक्षा के लिए बड़ा कदम है।