rss

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और सत्तारुढ़ भाजपा की एक ताजा समन्वय गोष्ठी में यह विचार उछला कि संघ जातीय आरक्षण का स्पष्ट समर्थन करता है। यह गहरे विवाद का विषय इसलिए बन गया कि संघ के मुखिया मोहन भागवत ने दो बार स्पष्ट शब्दों में कह दिया था कि आरक्षण की व्यवस्था पर पुनर्विचार किया जाए।

आपात काल के दौरान भूमिगत कार्य करने के बाद भागवत 1977 में अकोला (महाराष्ट्र) में प्रचारक बन गए और बाद में उन्हें नागपुर और विदर्भ क्षेत्रों का प्रचारक बनाया गया।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के फाइनल लिस्ट पर सवाल खड़े किए हैं। आरएसएस ने कहा कि एनआरसी की फाइनल लिस्ट में कुछ गड़बड़ियां हैं और इन गड़बड़ियों को दूर करने के लिए मोदी सरकार आगे आए। संघ की तरफ से घुसपैठियों को बाहर करने की मांग की गई।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण पर एक बार फिर बयान दिया है। आरक्षण को खत्म करने की मांग पर आरएसएस प्रमुख ने कहा कि झगड़ की बात क्यों करते हो। सर संघचालक मोहन भागवत अखिल भारतीय समन्वय और प्रतिनिधिमंडल बैठक के लिए राजस्थान के पुष्कर में थे।

जानकारी के मुताबिक, दोनों नेताओं के बीच में शुक्रवार शाम को ये बैठक हुई। अरशद मदनी के करीबियों ने इस बैठक की पुष्टि की है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को अफवाह फैलाने में महारत हासिल है। अखिलेश ने कहा है कि इन दिनों उत्तर प्रदेश में अफवाहों के चलते कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है। इन अफवाहों के पीछे कोई तथ्य या औचित्य नहीं होता है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े एक संगठन ने मंगलवार को कहा कि विद्यालयों में यौन शिक्षा देने या इसे केन्द्र की प्रस्तावित नई शिक्षा नीति के तहत पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने की कोई आवश्यकता नहीं है । क्योंकि इससे बच्चों पर नकारात्मक असर पड़ेगा ।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण को लेकर फिर एक बड़ा बयान देते हुए कहा है कि जो भी आरक्षण के पक्ष और विपक्ष में हैं, उनके बीच सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत होनी चाहिए।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पूरी दुनिया से मदद की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन दुनिया का कोई देश उनकी प्रोपेगेंडा को तवज्जों नहीं दे रहा है।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पूरी दुनिया से मदद की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन दुनिया का कोई देश उनकी प्रोपेगेंडा को तवज्जों नहीं दे रहा है।