smriti Irani

गुरुवार को बीजेपी ने प्रदेश के ग्यारह जिलाध्यक्षों की सूची जारी की। इसमें अमेठी के जिलाध्यक्ष की नियुक्ति पर प्रश्नचिन्ह लग गया है।

पुलिसिया कार्यवाही के कुछ घंटे बाद कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने स्मृति ईरानी को कड़ा पत्र लिखा। उन्होंने लिखा है कि केंद्रीय मंत्री द्वारा दर्ज करवाई गई एफआईआर निम्न और घटिया स्तर का कृत्य है।

सियासत और अमेठी का चोली दामन का साथ है। पहले गांधी परिवार की वजह से अमेठी चर्चा में होती थी। अब स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र होने के नाते अमेठी राजनीति की मुख्य धारा में है।

बीजेपी नेता नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में प्रदेश में कई जगहों पर रैली कर रहे हैं। बीजेपी इस कानून को लेकर फैले भ्रम को रैली के जरिए दूर करने की कोशिश कर रही है।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के उन्नाव से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद साक्षी महाराज ने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में हुई हिंसा को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा कि जेएनयू की नींव में ही कुछ समस्या है। वहां कई आस्तीन के सांप हैं जिनका इलाज किया जाना जरूरी है। सांसद साक्षी महाराज ने …

यूपी पुलिस केवल सड़क पर ही लोगों की आवाज कुचलने का काम नहीं कर रही बल्कि पुलिस अब सरकार के मंत्री के सामने भी वर्दी का रोब दिखा कर खामोश रहने के लिए आंखें फाड़ रही है।

स्मृति ईरानी खड़ी थी, उनके दाहिने साइड पर ठीक सटकर एसपी अमेठी डा. ख्याति गर्ग और थोड़े फासले पर सीओ तिलोई खड़े थे। उसी समय एक रेप पीड़िता स्मृति ईरानी के सामने हाथ जोड़कर पहुंच गई। रोते हुए कहा पुलिस दरोगा को नहीं सुन रहा, हमारे साथ इतना बड़ा हादसा हुआ।

सर्दी के मौसम में अमेठी का राजनैतिक पारा गर्म हो उठा है। समाज के आखरी आदमी तक अपना वर्चस्व कायम रखने के लिए बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने है। सियासत गरमाने का मुद्दा है जरूरतमंदों के कंबल वितरण से।