UP Crime

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि फिलहाल घटना में शामिल हमलावरों और घटना का पता नही चल सका है। पुलिस जांच में जुटी है। जल्दी ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

जिले में दबंगो के हौसले बुलंद हैं आये दिन किसी न किसी बड़ी घटना को अंजाम देने से बाज नहीं आते ताजा मामला दरगाह थाना क्षेत्र के गुल्लाबीर कांशीराम आवास की है, जहाँ की रहने वाली एक गरीब गर्भवती महिला को दबंगो ने घर में घुस कर बुरी तरह से लात घूंसो से पीटा जिससे उस के पेट में पल रहे सात माह की बच्ची की मौत हो गई।

फायरिंग की वारदात होने से कोर्ट परिसर में हड़कंप मच गया। कोर्ट परिसर में ताबड़तोड़ गोलियां चलने से परियर में हंगामें का माहौल देखने को मिला। मौके पर वकीलों का जमावड़ा हो गया। वहीं इस वारदात के बाद कोर्ट परिसर में भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

इतना ही नहीं मौके पर पहुंचे इको गार्डन चौकी इंचार्ज से भी उन्होंने अभद्रता की। पुलिस द्वारा रोके जाने के बावजूद भी वह नहीं रुके और युवक को लाठी से लगातार पीटते रहे। जानकारी के अनुसार युवक को काफी चोटें आई हैं।

पीड़िता का घर मुख्य और अन्य आरोपियों के घर से करीब 600 मीटर की दूरी पर है। यहां भी भारी संख्या में पुलिस बलों की मौजूदगी है, लेकिन यहां कोई नहीं आ रहा है। आरोपियों के परिजनों का कहना है कि उन्हें फंसाया जा रहा है।

घटना के बारे में पीड़िता के मामा का कहना है कि उन्हें सूचना मिली कि उनके बहनोई ने अपनी बेटी के साथ बलात्कार किया है इस सूचना पर वह यहां आए पुलिस में पीड़िता तथा उसकी मां को अपने साथ ले गए वहां उनका बयान हो रहा है|

इस मामले को लेकर कुछ लोगों को कहना है कि पुलिस ने बहुत अच्छा किया तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि किसी को भी कानून को हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। देखा जाय तो ऐसे मामले देश में लगातार बढ़ रहे हैं तो देश में इसको लेकर अब कड़े कानून बनाने की भी मांग होने लगी है।

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले से एक छेड़छाड़ का मामला सामने आया है, जहां अपनी बहन के साथ दबंगों का विरोध करना एक भाई के लिए महंगा पढ़ गया। दबंगों ने 9वीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा को घर में घुसकर फंदे पर लटका दिया जिससे उसकी मौत हो गई।

मीडिया से बातचीत के दौरान आईजी जोन एसके भगत ने पीड़िता का नाम लेकर उसकी पहचान उजागर कर दी। इतना ही नहीं आईजी भगत ने पीड़िता के परिवार वालों का भी नाम ले लिया। बता दें सुप्रीम कोर्ट का सख्त निर्देश है कि ऐसे मामले में पीड़िता व उसके परिवार की पहचान उजागर नहीं करना है।

वहीं इस मामले अपर पुलिस अधीक्षक (ASP) संजय यादव ने शुक्रवार को बताया कि 15 साल की किशोरी का पिछले दिनों अपहरण कर लिया गया। इसके बाद उसे हरियाणा के पानीपत ले जाकर उसके साथ कथित रूप से रेप किया गया।