uttar pradesh elections

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि निकाय चुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी का मामला चुनाव आयोग के संज्ञान में है।

अखिलेश की प्रतिक्रिया पर उत्तर प्रदेश में बहुमत के करीब दिख रही बीजेपी ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई है। पार्टी के दिग्गज और मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अखिलेश बताएं कि मायावती के खिलाफ साजिश किसने की थी।

यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव-2017 में अमेठी-रायबरेली की 10 में से 8 सीटें गुरूवार (2 फरवरी) को सत्ताधारी समाजवादी पार्टी (सपा) ने कांग्रेस को दे दी हैं। जबकि अमेठी जिले की अमेठी विधानसभा सीट और रायबरेली की डलमऊ सीट सपा ने अपने पास ही रखी है।

यूपी में असेंबली चुनावेां के समय को लेकर मची उहापोह के बीच हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने केंद्रीय चुनाव आयोग से पूछा है कि क्या सूबे में विधानसभा चुनावों की कोई तारीखें तय की गई हैं या फिर इस संबध में कोई प्रस्ताव तैयार किया गया है।

अखिलेश सरकार ने चुनावों की तारीखें अपने मनमाफिक आधार पर तय करवाने के प्रत्यक्ष दबाव के तहत हड़बड़ी में 16 फरवरी 2017 से दसवीं व बारहवीं की परिक्षाओं का कार्यक्रम घोषित कर दिया था। चुनाव आयोग ने अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए बोर्ड परीक्षाएं निरस्त कर दीं।

भाजपा प्रवक्ता ने उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा का सीएम फेस प्रोजेक्ट न करने के सवाल पर कहा कि नेता का नाम चुनाव की घोषणा होने तक सामने आ जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारा ध्यान उत्तर प्रदेश को सपा और बसपा से मुक्त कराने पर है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन की किसी औपचारिक चर्चा से इनकार किया है। इससे एक दिन पहले सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव भी विधानसभा चुनाव में किसी के साथ गठबंधन की संभावना से इनकार कर चुके हैं। गठबंधन नहीं -राज बब्बर ने गठबंधन की संभावनाओं से इनकार करते हुए इसे मीडिया की उपज बताया। -राज बब्बर ने कहा कि कांग्रेस या समाजवादी पार्टी की तरफ से अभी तक इस बारे में कोई औपचारिक चर्चा नहीं हुई है।