×

मुलायम के चहेते आशू मलिक की पिटाई, अखिलेश के करीबी पवन पांडे ने मारे चांटे

By
Updated on: 24 Oct 2016 12:13 PM GMT
मुलायम के चहेते आशू मलिक की पिटाई, अखिलेश के करीबी पवन पांडे ने मारे चांटे
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: मुलायम के चहेते एमएलसी आशू मलिक ने अखिलेश के चहेते पवन पांडे पर गंभीर आरोप लगाए हैं। आशू ने आरोप लगाया है कि पवन पांडे ने मुख्यमंत्री आवास पर मुझे थप्पड़ मारेे हैंं। उन्होंने मेरे साथ गलत व्यवहार किया है। मैं उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करूंगा। सीएम ने हमे समर्थन करने के लिए बुलाया था इसी दौरान पवन पांडे ने बंधक बनाकर मेरी पिटाई की है।

क्या बोले आशू मलिक ?

-मेरे लिए मुख्‍यमंत्री जी और नेताजी एक जैसे ही हैं ।

-मुख्‍यमंत्री जी ने आज मेरी जान बचाई है मैं कभी इसे नहीं भूल सकता।

-सोमवार को मैं सीएम साहब से मिलने गया था मेरी कोई गलती नहीं है।

- मंत्री पवन पांडे ने मुझे बंधक बनाकर पीटा, उन्‍होंने मुझे 2 चांटे मारे।

- आशूू मालिक ने कहा कि मैं आज जीवित हूंं तो अखिलेश जी की वजह से।

-मुख्यमंत्री ने मेरी जान बचाई , मुझे मुख्यमंत्री ने मंच पर बुलाया था, लेटर के बारे में जानकारी देने के लिए।

-मैंने मुख्यमंत्री के साथ कोई अभद्रता नहीं की।

-सोमवार को सपा कार्यालय में आशू मलिक को लेकर ही विवाद शुरू हुआ था ।

-इसके बाद सीएम अखिलेश और शिवपाल में धक्‍का मुक्‍की हुई थी ।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें क्‍यों हुई थी लड़ाई...

क्‍यों हुई लड़ाई

-अमरसिंह की तरफ से एक लेटर लिखा गया था जिसमें अखिलेश को औरंगजेब और मुलायम को शाहजहां बताया गया था

-इस पर मुलायम ने मंच पर आशू मलिक को बोलने के लिए बुलाया

-आशू मलिक मंच पर गए और सीएम अखिलेश के कंधे पर हांथ रखकर खड़े हो गए।

-आशू मलिक की इस हरकत से अखिलेश समर्थक नाराज हो गए।

-सीएम ने जब माइक पर बोलना चाहा तो उनको माइक नहीं दिया है।

-इसके बाद अचानक सपा कार्यालय के अंदर माहौल बिगड़ गया।

-मुख्‍यमंत्री ने अपने पिता और शिवपाल के पैर छुए।

-अखिलेश के समर्थक अमर सिंह को दलाल कह रहे हैं एक एमएलसी पर भी आरोप लगा रहे हैंं।

-शिवपाल ने मुख्‍यमंत्री से कहा छूठ क्‍यों बोलेते हो।

-सीएम पर आरोप लगाया गया कि मुजफ्फरनगर दंगों में आपने मुसलमानों को साथ नहीं दिया।

-सीएम ने नेताजी से पूछा आज मेरा जन्‍मदिन है बधाई नहीं दी

कौन है आशू मलिक

-समाजवादी सियासत में आशू मलिक कुछ सालों से वेस्ट यूपी के एक अहम मुस्लिम चेहरे के तौर पर उभर कर सामने आए।

-2014 में पार्टी ने इसीलिए उन्हें एमएलसी भी बनाया गया हालांकि उनकी बेबाकी ही उनकी मुसीबत बन गई।

-उदयवीर सिंह के लेटर का जिम्मा भी आशू मलिक ने उठाया था।

-हाशिमपुरा कांड के पीड़ितों को जब आजम खान न्याय दिलाने के लिए धरना देने का सुझाव दे रहे थे तो आशू मलिक ने ही मोर्चा संभाला और पीड़ितों को ले जाकर सीएम से मिलवाया।

-उन्हें 5—5 लाख का मुआवजा दिलवाया। मेट्रो का वर्किंग मॉडल बनाने वाले शामली के अब्दुल शमद को भी सीएम तक पहुंचाने वाले आशू ही थे।

-उनका बढ़ता कद देश आजम से उनके मतभेद की खबरें आम हो गईं थीं।

-गाजियाबाद में हज हाउस के उद्घाटन के बाद आजम के खिलाफ आशू ने मोर्चा भी खोला था।

-आशू मलिक मुलायम के करीबी बताए जाते हैं।

Next Story