×

मेरठ से अखिलेश के पसंदीदा उम्मीदवारों को मिला मौका, चुनाव लड़ने के लिए कस ली कमर

Rishi
Updated on: 20 Jan 2017 1:44 PM GMT
मेरठ से अखिलेश के पसंदीदा उम्मीदवारों को मिला मौका, चुनाव लड़ने के लिए कस ली कमर
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मेरठ: समाजवादी पार्टी शुक्रवार को यूपी विधानसभा चुनाव के लिए 191 प्रत्याशियों की सूची जारी की। इसमें अखिलेश यादव की पसंद के प्रत्याशियों को तरजीह दी गई। मेरठ शहर से रफीक अंसारी, कैंट से सरदार परविंद्र ईशू , सरधना से अतुल प्रधान, किठौर से शाहिद मंजूर, सिवालखास से गुलाम मोहम्मद, दक्षिण से आदिल चैधरी और हस्तिनापुर से प्रभुदयाल वाल्मीकि को प्रत्याशी घोषित किया गया है। हालांकि टिकट कटने से डर से कई सपा प्रत्याशी पहले से लखनऊ में डेरा डाले हुए थे, लेकिन इसके बावजूद टिकट बंटवारे में मुलायम का कोई पैंतरा काम

नहीं आया।

मेरठ कैंट क्षेत्र से शिवपाल यादव द्वारा पहले घोषित की गईं प्रत्याशी आरती अग्रवाल का टिकट काटकर अखिलेश यादव ने सरदार परविंद्र ईशू को ही प्रत्याशी घोषित किया गया। वहीं सरधना से पिंटू राणा को हटाकर अखिलेश के करीबी अतुल प्रधान को टिकट दिया गया है। इसी तरह शहर सीट से अयूब अंसारी का नाम काटकर रफीक अंसारी को प्रत्याशी घोषित किया गया है। वहीं जिले की अन्य सीटों पर पूर्व में काबिज प्रत्याशियों को ही मौका दिया गया है। मुख्यमंत्री के इस फैसले से टिकट कटने वाले प्रत्याशियों के खेमों में मायूसी छा गई है। वहीं घोषित प्रत्याशियों ने बिना समय गंवाए चुनाव लड़ने के लिए कमर कस ली है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story