Top

गाड़ियां चुराकर पूरी करता था शौक, अब तक कितनी चुराई खुद भी याद नहीं

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 14 Feb 2016 2:04 PM GMT

गाड़ियां चुराकर पूरी करता था शौक, अब तक कितनी चुराई खुद भी याद नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: इंदिरानगर इलाके में रविवार को पुलिस ने अंतर-जिला वाहन चोरों का खुलासा करते हुए तीन चोरों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने चोरी के वाहनों की खरीद-फरोख्त करवाने वाले उसके सहयोगियों को पिकनिक स्पॉट के जंगल से गिरफ्तार किया।

कई वाहन और पार्ट्स बरामद

एएसपी ट्रांस गोमती जयप्रकाश ने कहा चोरों ने सैकड़ों वारदातें स्वीकारी हैं। उनके पास से चोरी की 18 बाइक, दो स्कूटी, एक कटी हुई बाइक एवं उसके पार्ट्स बरामद हुए हैं। सभी को जेल भेज दिया गया है।

चोरी के वाहन बेचने वाले भी धरे

जय प्रकाश ने कहा कि पुलिस टीम ने तकरोही इंदिरानगर के मोहम्मद शोएब, मोहम्मद रईश, खुर्रम नगर निवासी मोहम्मद चांद, के अलावा चोरी के वाहनों की बिक्री कराने वाले गुडम्बा के आदिल नगर निवासी सदाकत अली, डूडा कॉलोनी इंदिरानगर निवासी इश्तियाक और तकरोही के निवासी आरिफ को गिरफ्तार किया है।

कोई आर्थिक तंगी तो कोई महंगे शौक के लिए करता था चोरी

पकड़े गए चोरों ने पूछताछ में बताया कोई महंगे शौक पूरे करने के लिए चोरी करता था तो कोई आर्थिक तंगी के कारण यह काम करता था। आरोपियों ने अब तक कितने वाहन चुराए हैं यह उन्हें खुद भी नहीं पता है। वाहन चुराने के बाद पिकनिक स्पॉट के जंगल में पुराने ट्यूबवेल की बाउंड्री के पीछे छिपाते थे। चोरों के गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में जानकारी ली जा रही है।

नंबर प्लेट बदलकर बेचते थे गाड़ी

गिरफ्तार गिरोह के सरगना शोएब ने बताया कि इंदिरानगर के अरावली मार्ग स्थित जावेद हबीब के यहां वो काम करता है। शौक पूरे न होने के चलते सभी आरोपी चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे। चोरी के वाहनों को ये लोग छिपाकर रखते थे और बाद में साथी गिरफ्तार आरोपियों सदाकत, इश्तियाक व आरिफ की मदद से या तो कबाड़ में या यूं ही बेच देते थे। ये लोग गाड़ी का नंबर प्लेट भी बदल देते थे।

Newstrack

Newstrack

Next Story