Top

इधर बढ़ने वाला था चुनावी पारा, उधर करोड़ों के पूल का मजा ले डाला

Admin

AdminBy Admin

Published on 14 April 2016 12:09 PM GMT

इधर बढ़ने वाला था चुनावी पारा, उधर करोड़ों के पूल का मजा ले डाला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Ashutosh Tripathi Ashutosh Tripathi

लखनऊ: अंबेडकर जयंती पर बसपा सुप्रीमो मायावती को सुनने चिलचिलाती धूप में दूर-दूर से लोग पहुंचे थे। अंबेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल पर बसपाई बड़ी बेसब्री से मायावती के आने का इंतजार कर रहे थे। इधर सूरज भी सिर पर चढ़ता जा रहा था। सबको पता था कि मायावती के आते ही माहौल और गरम हो जाएगा, क्योंकि आज उनके बोलने का दिन था। इससे पहले की माया के तीखे तेवरों से चुनावी गर्मी और बढ़ती समर्थकों ने वहां बने करोड़ों के पूल में छलांग लगाना बेहतर समझा।

swimming-pool

गर्मी ने किया समर्थकों का बुरा हाल

अंबेडर जंयती के मौके पर विशाल रैली का आयोजन किया गया था। रैली में हजारों की संख्या में बसपा समर्थक पहुंचे हुए थे। मायावती को परिवर्तन स्थल पहुंचकर कार्यकर्ताओं को संबोधित करना था। सर्मथकों का गर्मी के मारे बुरा हाल हो रहा था। उन्होंने जब देखा कि बहन जी के आने में अभी कुछ वक्त है तो वहां बने करोड़ों के फाउंटेन पूल में छलांग लगा दी। गर्मी में ठंडक का मजा लेते देख बाकी लोग भी इकट्ठा हो गए।

lucknow

छूट गया माया का भाषण

अरे भई, करोड़ों के पूल में नहाने का मजा ही कुछ और है। कई घंटे तक समर्थक पानी में उछलकूद करते रहे और भूल गए कि वह मायावती को सुनने आए थे। जब तक वो बाहर आए तब तक बहनजी भाषण देकर जा चुकी थीं। अब मजा लेने की सजा तो मिलनी ही थी।

mayawati-rally

Admin

Admin

Next Story