Top

फैशन डिजाइनर के गायब होने की उलझी गुत्थी, SSP ने STF को सौंपी जांच

Admin

AdminBy Admin

Published on 3 March 2016 7:11 AM GMT

फैशन डिजाइनर के गायब होने की उलझी गुत्थी, SSP ने STF को सौंपी जांच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: सेक्टर-37 से मंगलवार को गायब हुई फैशन डिजाइनर का मामला उलझता जा रहा है। अभी तक पुलिस को इस मामले में कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। फिलहाल, मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी ने मामला एसटीएफ को सौंप दिया है। पुलिस ने पूरे मामले की जांच के लिए तीन टीमें गठित की हैं। पुलिस लगातार परिजनों और चेतन से बात कर रही है। सीओ फर्स्ट गौरव ग्रोवर ने बताया कि चेतन मलिक और परिजनों से बातचीत के बाद लगातार पुलिस इस मामले पर नजर बनाए हुए हैं। पुलिस छोटी से छोटी बात की बारीकी से जांच कर रही है। पुलिस को जांच में कुछ सुराग हाथ लगे हैं।

कई एंगलों से जांच कर रही पुलिस

-मंगलवार दोपहर सेक्टर-29 में शिप्रा की अपने पति से कुछ देर की मुलाकात हुई थी। पुलिस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है उस समय उनके बीच क्या बातचीत हुई थी ?

-परिजनों के पास फिरौती की रकम को लेकर अभी तक कोई फोन नहीं आया है।

-पुलिस सर्विलांस और परिजनों से बातचीत के आधार पर पुरानी रंजिश या कोई और सुराग निकालने की कोशिश कर रही है।

चल रहा है प्रॉपर्टी विवाद

-सूत्रों के मुताबिक चेतन मलिक का दिल्ली के लाजपत नगर में एक दुकान को लेकर राहुल तनेजा और गुलशन तनेजा से विवाद चल रहा था।

-इस जानकारी के बाद पुलिस इस मामले में अपहरण का हाथ आपसी विवाद के नजरिए से भी जांच करने में जुट गई है।

-पुलिस को गुमराह करने के लिए दिल्ली से कंट्रोल रूम में महज 10 सेकेंड की कॉल की गई थी।

मामले में कहां हैं पेंच ?

-शिप्रा के गायब होने के कुछ देर बाद ही उसके पति ने शिप्रा को कार को सेक्टर-29 के पास बीच सड़क पर खड़े देखा।

-आखिर शिप्रा से मिलने के कुछ देर बाद ही चेतन अपने ऑफिस से निकला और उसे ही शिप्रा की कार खड़ी दिख गई।

-चेतन से मिली जानकारी के मुताबिक, शिप्रा दो बजे के करीब सेक्टर-29 से निकली थी।

-शिप्रा की लास्ट लोकेशन 2.56 पर दिल्ली के लाजपत नगर के पास मिली।

-नोएडा से जाने के बाद महज 56 मिनट में शिप्रा लाजपत नगर पहुंच गई।

-इसके लिए डीएनडी के बिना इतने कम समय में लाजपत नगर नहीं जाया जा सकता।

-पुलिस को डीएनडी की सीसीटीवी फुटेज में भी कोई सुराग नहीं मिला है।

क्या है मामला ?

डिजाइनिंग के काम से शिप्रा को दिल्ली स्थित चांदनी चौक जाना था। सोमवार दोपहर शिप्रा अपनी सफेद स्विफ्ट कार से दिल्ली के लिए अकेली निकल गई। करीब दो बजे वह थोड़ी देर के लिए सेक्टर-29 स्थित ब्रह्मपुत्रा मार्केट में पति चेतन से मिलने के लिए रुकी। वहां पहले से ही पति चेतन मौजूद थे। चेतन से मिलने के बाद वह दिल्ली के लिए रवाना हो गई। दोपहर करीब 2 बजकर 56 मिनट पर चेतन सेक्टर-29 स्थित विजया इंक्लेव के पास से अपने घर की ओर जा रहे थे। तभी उन्होंने देखा कि विजया इंक्लेव के ठीक सामने सड़क के किनारे उनकी पत्नी शिप्रा की सफेद स्विफ्ट कार लावारिस खड़ी थी। पास जा कर देखा तो ड्राइवर सीट के पास की गेट का विंडो खुला हुआ था और कार में कोई भी नहीं था। चाबी ब्रेक के पास नीचे पड़ी हुई थी। शिप्रा के मोबाइल से उसी इलाके से दिल्ली पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल किया गया था।

आईजी ने दिए सख्ती बरतने के निर्देश

शिप्रा मलिक मामले में आइजी ने पुलिस को सख्ती बरतने के लिए कहा है। आईजी के निर्देश पर कुल आठ टीमों का गठन किया गया है, जिसमें तीन सीओ, पांच एसओ, क्राइम ब्रांच, एसटीएफ की टीम शामिल हैं। इसके अलावा एक टीम दिल्ली पुलिस की भी मदद ले रही है। सूत्रों से पता चला है कि बुटीक संचालिका दिल्ली के लिए घर से करीब एक बजकर दस मिनट पर निकली। इसके बाद दो बजे उनके पति चेतन मलिक, पति का दोस्त रोहित और उनका भाई मोहित दिल्ली स्थित कनाट प्लेस गए। यहां पर तीनों ने एक रेस्टोरेंट में खाना खाया। इसके बाद नेक्सा शोरूम में जाकर उन्होंने एक कार की टेस्ट ड्राइव ली। पुलिस का कहना है कि उन्हें कोई कार खरीदनी थी। इसलिए वे दिल्ली गए थे।

तीन सीओ को दिए अलग-अलग रूट

-पुलिस ने पहला रूट डीएनडी से अक्षरधाम होते हुए लाजपत नगर का तैयार किया है। जिसकी कमान सीओ प्रथम गौरव ग्रोवर को सौंपी गई है।

-दूसरा रूट चिल्ला, मयूर विहार, अक्षरधाम मंदिर, सराय काले खां, आश्रम होते हुए लाजपत नगर का बनाया है। इस रूट का कमान सीओ द्बितीय अनूप सिह को सौंपी गई है।

-तीसरा रूट कालिदी कुंज, सरिता विहार, आश्रम होते हुए लाजपत नगर का बनाया गया है, जिसकी कमान सीओ तृतीय अरविंद कुमार को सौंपी गई है। उधर, एसएसपी के निर्देश पर सीओ की टीमों में तैनात पुलिसकर्मी इन रूट पर पड़ने वाले सभी सीसीटीवी कैमरों की जांच करेंगे। साथ ही टॉवर से भी सीडीआर निकालेंगे। इसके बाद लोगों से पूछताछ करेंगे।

शॉपिंग की जगह होगी पूछताछ

-एक टीम को लाजपत नगर भेजा गया है। यह उन दुकानदारों से पूछताछ करेगी। इस दुकान पर शिप्रा शॉपिग करने अक्सर जाती थी।

Admin

Admin

Next Story