Top

दबंगों ने मुर्गा बनाकर बेल्ट्स से की पिटाई, पुलिस ने थाने से भगाया

shalini

shaliniBy shalini

Published on 22 May 2016 6:29 AM GMT

दबंगों ने मुर्गा बनाकर बेल्ट्स से की पिटाई, पुलिस ने थाने से भगाया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर- कानपुर में एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें कुछ दबंग लोग मोबाइल चोरी का आरोप लगाकर तीन युवकों को मुर्गा बनाकर बेल्ट्स से पीट रहे हैं। मुर्गा बनाने के बाद छोटे-छोटे बच्चों को उनकी पीठ पर बैठा रहे हैं। इतना कुछ होने के बाद बाद भी थाने की पुलिस शांत बैठी रही दबंगों ने इरफ़ान की पत्नी व उसकी प्रेग्नेंट बहू को भी लातों और घूसों से मारा। बड़ी हिम्मत जुटा कर पीड़ित की पत्नी ने कोर्ट जाकर वकील के माध्यम से मुकदमा दर्ज कराया है।

क्या है पूरा मामला

-कानपुर के बिल्हौर थाना क्षेत्र के अशफाक उल्ला नगर का है।

-जहां बीती पंद्रह मई की दोपहर इलाके के रहने वाले राजबाबू, बीके और राजा नाम के इन दबंगों ने अपने साथियों के मिलकर इरफ़ान के घर धावा बोल दिया।

-पहले तो इरफ़ान पत्नी व गर्भवती बहू की पिटाई करनी शुरू कर दी।

-सैकड़ों ग्रामीण अपने सामने सरेआम दी जा रही इस क्रूर सजा को मुंह बंद करके देखते रहे।

-जो भी आया, उसको भी दबंगई का शिकार होना पड़ा।

kanpur खुद को बचने के प्रयास में युवक

मदद को आगे आए लोगों को भी नहीं छोड़ा

-इन दबंगो की दबंगई यहीं ख़त्म नहीं हुई।

-पत्नी और बहू को बचाने वाले इरफ़ान व उसके बेटे समेत मदद को आगे आए लोगों को भी इन्होंने नहीं छोड़ा।

-दोनों पड़ोसियों को इन दबंगो ने कार में बैठाकर जंगल की ओर ले गए।

-वहां ले जाकर मानवता को शर्मसार करने वाला भयानक दृश्य शुरू हुआ।

kanpur crime मुर्गा बने लोगों पर बिठाया बच्चों को

-इरफ़ान व दोनों पड़ोसियों को मुर्गा बनाकर उसके बेटे के सामने बेल्ट से पिटाई की गई।

-इस दर्दनाक खेल का सिलसिला लगातार तीन घंटे इसी तरह चलता रहा।

-इसका कारण था, दबंगों द्वारा मांगी गई रंगदारी की रकम का, जिसे देने में इरफ़ान बेबस था।

-दबंगों ने तीनों की इतनी पिटाई की कि वह पुलिस के आगे जाने में भी घबराते रहे।

-इरफ़ान ने हिम्मत करके आवाज उठाई।

-लेकिन पुलिस ने भी इन दबंगों के आगे सिर झुका दिया।

-अंत में इरफ़ान ने कानपुर न्यायलय का दरवाजा खटखटकाया है।

क्या है इरफ़ान का कहना

-पीड़ित इरफ़ान ने बताया कि राजा बाबू, वीके और राजा गांव में रहने के लिए 20 हजार रूपए की रंगदारी मांग रहे थे।

-लेकिन जब इतनी बड़ी रकम देने में असमर्थता जताई।

-तो यह तीनों बीते 15 मई को घर में अपने कई साथियों के साथ आये और प्रेग्नेंट बहू और पत्नी मीना को जमकर पीटा।

kanpur पिटाई में घायल युवक

-वह फर्जी मोबाइल चोरी का आरोप लगा रहे थे।

-मार-पीट का विरोध करने आए, हमारे दो पड़ोसी राजेश और मयूर को भी उन्होंने पीटा।

पुलिस ने कर दिया मामला यूं ही रफा-दफा

-इसके बाद जब पुलिस के पास गए, तो पुलिस ने पहले थाने से भगा दिया।

-लेकिन जब उनको पिटाई का वीडियो दिखाया, तो उन्होंने 151 में मामला दर्ज कर निपटा दिया।

-बड़ी हिम्मत जुटा कर वकील ओमनारायण से मिले, तब उन्होंने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

kanpur मुर्गा बने लोग

क्या है वकील ओम नारायण का कहना

-वकील ओम नरायण तिवारी के मुताबिक यह तीन ग्रामीण इतनी दहशत में है।

-उनके पास सिर्फ इरफ़ान ही आया है बाकि के दो पीड़ित अभी भी पुलिस के पास नहीं गए हैं।

-उन्होंने बताया कि आईपीएल मैच के कारण कोर्ट में मामला दाखिल नहीं हो पाया है।

-लेकिन 22 मई को यह मामला कोर्ट में दाखिल हो जाएगा।

क्या है एसपी का कहना

-एसपी ग्रामीण सुरेन्द्र नाथ तिवारी से बात की गई, तो उनका जवाब था कि मोबाइल चोरी का मामला है, रंगदारी का नहीं है।

-पीड़ित की तरफ से जो तहरीर दी गयी है, उसपर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

shalini

shalini

Next Story