×

कानपुर: राजकीय संप्रेक्षण गृह से चादर के जरिए 4 लड़के फरार, जेल में मचा हड़कंप

राजकीय संप्रेक्षण गृह (किशोर) से चार बाल कैदी खिड़की की ग्रिल काटकर चादर के जरिए उसकी रस्सी बनाकर 40 फिट की ऊंचाई से कूदकर भाग गए। जब गुरुवार को नाश्ते के वक्त इनकी गिनती की गई तो चार कम बाल कैदी कम पाए गए। इसके बाद पूरे जेल में हड़कंप मच गया, जेल अधीक्षक ने इसकी सूचना पुलिस और डीएम दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस और एसीएम ने संप्रेक्षण गृह का दौरा किया। तत्काल कार्यवाई करते हुए चार होमगार्ड को उनके पद से कार्यमुक्त कर दिया गया है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 15 Feb 2018 10:39 AM GMT

कानपुर: राजकीय संप्रेक्षण गृह से चादर के जरिए 4 लड़के फरार, जेल में मचा हड़कंप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर: राजकीय संप्रेक्षण गृह (किशोर) से चार बाल कैदी खिड़की की ग्रिल काटकर चादर के जरिए 40 फिट की ऊंचाई से कूदकर भाग गए। जब गुरुवार को नाश्ते के वक्त इनकी गिनती की गई तो चार कम बाल कैदी कम पाए गए। इसके बाद पूरे जेल में हड़कंप मच गया, जेल अधीक्षक ने इसकी सूचना पुलिस और डीएम दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस और एसीएम ने संप्रेक्षण गृह का दौरा किया। तत्काल कार्यवाई करते हुए चार होमगार्ड को उनके पद से कार्यमुक्त कर दिया गया है।

नौबस्ता थाना क्षेत्र के बौद्ध नगर में राजकीय संप्रेक्षण गृह (किशोर) है। इस बच्चा जेल में 47 बाल बंदी है। यह बच्चा जेल तीन मंजिला ईमारत में बनी है। बुधवार रात के वक्त सभी बाल कैदी दूसरी मंजिल पर बने हाल में सो रहे थे। चार बाल कैदियों ने खिड़की की ग्रिल काट कर चादर से चादर जोड़कर उसे खिड़की से बंधकर नीचे उतर गए। जानकारी के मुताबिक, चादर से वह फिट तक ही पहुंच सके थे इसके बाद वह 30 फिट की ऊंचाई से कूद कर भाग गए।

चार बाल कैदी फरार

चारों बंदियों के साथियों को यह बात पता थी, लेकिन किसी ने इसकी शिकायत वहां के कर्मचारियों से नहीं की। जब गुरुवार को सभी को नाश्ता कराया जा रहा था, हाजिरी रजिस्टर से उनकी हाजिरी लगाई गई तो उसमें से चार बाल कैदी कम निकले। पूरी बच्चा जेल में हड़कंप मच गया। केयर टेकर ने इसकी सूचना पुलिस और जिला प्रशासन को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब पूछताछ की तो पता चला कि बीती रात चार बाल कैदी फरार हो गए है।

क्या था मामला?

बीते 12 फरवरी को इसी बच्चा जेल में दो गुटों में जमकर लाठी डंडे चले थे। बाल बंदियों ने जेल अधीक्षक को चाकू लेकर दौड़ाया था। इस बाल सुधार गृह पर दो गुट चलते है एक गुट कानपुर देहात का है और दूसरा गुट कानपुर नगर है का है। बीते सोमवार को कानपुर देहात की पुलिस कोर्ट के आदेश पर चार बंदियों को माती जेल ले जाने के लिए आई थी l यह चारो बंदी 18 साल से ऊपर हो गए थे, इन्हें माती जेल में शिफ्ट किया जाना था। बवाल के बाद चार बाल कैदियों को कानपुर देहात की पुलिस ले गई थी।

तीन साथियों की तलाश जारी

बीते बुधवार रात दो केयर टेकर कमलकांत और सुन्दर लाल गौतम ड्यूटी पर थे। सुरक्षा के लिए दो होमगार्ड सुरेश कुमार और राम शंकर तैनात थे। भागे हुए तीन कैदी चोरी के मामले में और एक कैदी पास्को एक्ट में आये थे। बच्चा जेल से भागे हुए चार कैदियों में से एक को रिकवर कर लिया गया है। वहीं उसके तीन साथियों की तलाश की जा रही हैं।

एसीएम प्रथम वीरेंदर कुमार तोमर के मुताबिक, राजकीय संपेक्षण गृह से चार बच्चे पलायन कर गए है। वह बीती रात चादर से चादर बांध कर नीचे उतरे है। इसमें एक को रिकवर कर लिया गया है। जांच कर इसकी रिपोर्ट डिएम को सौपी जाएगी l

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story