×

कोर्ट का सवाल : पार्क में हुए अवैध निर्माण को गिराने के लिए क्या किया

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 30 Oct 2018 2:55 PM GMT

कोर्ट का सवाल : पार्क में हुए अवैध निर्माण को गिराने के लिए क्या किया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने एलडीए से पूछा है कि उसने कानपुर रोड योजना के सेक्टर एम के पार्क में हुए अवैध निर्माण को गिराने के लिए क्या कार्यवाही की। कोर्ट ने कथित तौर पर अवैध निर्माण कर स्कूल चलाने वाले जेकेएन शुक्ला व इशा शुक्ला को भी नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई 4 दिसम्बर को होगी।

ये भी देखें : शशि थरूर ने PM पर की आपत्तिजनक टिप्पणी, मोदी को बताया बिच्छू के समान

ये भी देखें :मालेगांव ब्लास्ट मामले में पुरोहित, प्रज्ञा समेत सात हत्या व साजिश में आरोपित

ये भी देखें :राहुल ने पनामा मामले में गलती मानी, शिवराज के बेटे ने ठोंक दिया केस

यह आदेश जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस आरएस चौहान की बेंच ने अवधेश कुमार शुक्ला की ओर से दाखिल जनहित याचिका पर पारित किया। याची के अधिवक्ता अवधेश कुमार तिवारी ने बताया कि उक्त पार्क में अवैध निर्माण कर एक निजी स्कूल चलाया जा रहा है। यह मामला कई बार एलडीए के उच्चाधिकारियों के समक्ष उठ चुका है व 26 दिसम्बर 2017 को एलडीए के प्रिसाइडिंग ऑफिसर ने उक्त अवैध निर्माण को गिराने का भी आदेश दिया था। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस पर कोर्ट ने एलडीए से पूछा है कि उसने 26 दिसम्बर 2017 के आदेश के अनुपालन के लिए क्या कदम उठाए गए। साथ ही जेकेएन शुक्ला व इशा शुक्ला को नोटिस भी जारी करने का आदेश दिया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story