×

बजट 2019: मायावती का बीजेपी पर हमला- 'जुमलेबाजी से देश की तकदीर नहीं बदल सकती'

मायावती ने कहा कि केन्द्र सरकार ने खासकर गरीबों, मजदूरों व किसानों आदि के नाम पर अभी तक जो भी योजनाएं घोषित की हैं उन सभी से इसके असली जरुरतमन्दों व हकदारों को कम तथा बड़े-बड़े पूँजीपतियों व धन्नासेठों को ही ज्यादा लाभ पहुँचा है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 1 Feb 2019 8:59 AM GMT

बजट 2019: मायावती का बीजेपी पर हमला- जुमलेबाजी से देश की तकदीर नहीं बदल सकती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती ने बजट-2019 को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। मायावती ने कहा है कि बीजेपी सरकार का अन्तिम व चुनाव पूर्व का अन्तरिम बजट जमीनी हकीकत और कड़वी वास्तविकता के सही समाधान से दूर है। कुल मिलाकर ये जुमलेबाजी वाला बजट ज्यादा है।

उन्होंने कहा है कि बीजेपी पिछले पाँच वर्षों के कार्यकाल में देश में आर्थिक समानता की खाई बढ़ी है। भारत में धन व विकास का लाभ गरीबों व किसानों आदि को मिलने के बजाय कुछ मुट्ठीभर बड़े-बड़े पूँजीपतियों व धन्नासेठों के हाथों में ही सिमट कर रह गया है।जो इस सरकार की विफलता व घोर गरीब व किसान विरोधी व धन्नासेठ समर्थन नीति व गलत कार्यप्रणाली के साथ-साथ इनके अहंकारी होने को भी प्रमाणित करता है।

ये भी पढ़ें...अखिलेश यादव ने आने वाले बजट को लेकर दागा ट्विटर बम

बीजेपी के लम्बे-चौड़े बयानों, बखानों व जुमलेबाजी आदि से देश की तकदीर नहीं बदल सकती है, और ना ही देश में लम्बे समय से जारी जर्बदस्त मंहगाई, गरीबी, अशिक्षा व बेरोजगारी आदि को गम्भीर व देशव्यापी समस्या समाप्त हो सकती है बल्कि इसके लिये सही नियत व समर्पित दृढ़ इच्छाशक्ति की जरुरत होती है जिसका केन्द्र में आसीन सरकारों में अब तक अभाव रहा है।

कुल मिलाकर बीजेपी सरकार की अनेकों प्रकार की चुनावी वादाखिलाफी की तरह ही इनका पाँच वर्षों का कार्यकाल खासकर नोटबन्दी, जी.एस.टी. और उसके कारण उत्पन्न बेरोजगारी की गम्भीर समस्या के साथ-साथ इनका अन्तरिम बजट भी देश की आमजनता के लिये मायूस व बेचैन करने वाला ही है।

ये भी पढ़ें...#BUDGET: सीएम योगी बोले, न्यू इंडिया के सपने को साकार करेगा यह बजट

इतना ही नहीं बल्कि केन्द्र सरकार ने खासकर गरीबों, मजदूरों व किसानों आदि के नाम पर अभी तक जो भी योजनाएं घोषित की हैं उन सभी से इसके असली जरुरतमन्दों व हकदारों को कम तथा बड़े-बड़े पूँजीपतियों व धन्नासेठों को ही ज्यादा लाभ पहुँचा है। यही कारण है कि वे लोग बिना किसी खास मेहनत व उपलब्धि के और ज्यादा धनवान बनते चले जा रहे हैं। इससे आर्थिक विषमता व गैर-बराबरी काफी ज्यादा बढ़ी है जो कतई देशहित की बात नहीं हैं।

बसपा सुप्रीमो ने कहा देश की आमजनता से अपील की कि वे बीजेपी की सरकार की गलत नीतियों व अहंकारी कार्यकलापों को उसकी वास्तविकता के आधार पर परखें तथा खासकर अब चुनाव पूर्व की इनकी हवा-हवाई बातों, लोक-लुभावन वायदों के साथ-साथ इनके द्वारा धार्मिक उन्माद को भड़काकर अपनी विफलताओं पर से ध्यान बांटने के हथकण्डे में ना आयें बल्कि अपना भविष्य संवारने के लिये आने वाले समय में काफी गहन सोच-विचार के बाद ही ऐसा फैसला करें जिसमें उनका अपना वास्तविक हित व देशहित एवं समाजहित निहित हो।

ये भी पढ़ें...#Budget2019: डिफेंस सेक्‍टर के लिए बड़ा ऐलान, पहली बार रक्षा बजट 3 लाख करोड़

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story