×

ये हुई न कोई बात! दो वक़्त की रोटी के लिए मां ने लखपति बेटों पर किया मुकदमा

Gagan D Mishra

Gagan D MishraBy Gagan D Mishra

Published on 24 Sep 2017 12:04 AM GMT

ये हुई न कोई बात! दो वक़्त की रोटी के लिए मां ने लखपति बेटों पर किया मुकदमा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जौनपुर: उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में एक मां ने दो वक्त की रोटी के लिए अपने तीन-तीन लखपति बेटों पर मुकदमा किया है। मामला महाराजगंज थाना क्षेत्र के कोल्हुआ गांव का है, जहां की रहने वाली साठ वर्षीय सीता देवी के तीन बेटे हैं, जो प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करते हैं। तीनों अलग-अलग रहते हैं और तीनों ने चार-चार महीने मां का भरण पोषण करने का वादा किया था, लेकिन बाद में किनारा कर लिया।

यह भी पढ़ें...दर्दनाक दास्तां: ऐसी औलाद से बेऔलाद होना अच्छा, शायद यही कह रही है 102 साल की बूढी मां

दो वक्त का भोजन नहीं जुटा पा रही, वृद्धा की स्थिति देख ग्रामीण उनके भोजन का इंतजाम कर रहे हैं। अब अपने तीन लखपति बेटों से भरण पोषण की मांग करते हुए न्यायालय में मुकदमा दायर किया है।

परिवार न्यायालय के न्यायाधीश ज्ञान प्रकाश तिवारी ने तीनों बेटों के खिलाफ नोटिस जारी करते हुए 24 अक्टूबर तिथि नियत की है। सीतादेवी ने बेटे अशोक, रामकुमार व विजय से 5,000 रुपये भरण पोषण की मांग करते हुए केस दायर किया।

वृद्धा ने बताया, "उसके पति की मृत्यु 1990 में हो चुकी थी और प्रॉपर्टी पर लड़कों का नाम चढ़ गया। बेटों में तय हुआ कि बारी-बारी चार-चार महीने मां का भरण पोषण करेंगे, लेकिन बाद में तीनों बेटों ने किनारा कर लिया।"

यह भी पढ़ें...कलयुगी बेटे की करतूत: जमीन के लिए बूढ़ी मां को पीटकर घर से निकाला, दर-दर खा रही ठोकरें

गांव वालों ने उसकी लाचारी पर तरस खाकर उसे खाना वगैरह दे देते हैं। वह भुखमरी की कगार पर है, जबकि तीनों बेटे बड़े कारोबारी हैं।

--आईएएनएस

Gagan D Mishra

Gagan D Mishra

Next Story