×

Meerut: गैंगस्टर और भूमाफिया यशपाल तोमर की दो करोड़ की कोठी को पुलिस ने किया जब्त

एएसपी ब्रह्मपुरी विवेक यादव ने बताया कि एसएसपी रोहित सिंह सजवान और मजिस्ट्रेट के आदेश के तहत पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट (14/1) के तहत पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

Sushil Kumar
Updated on: 7 July 2022 3:16 PM GMT
Police confiscated two crore kothi of gangster and land mafia Yashpal Tomar
X

Police confiscated two crore kothi of gangster and land mafia Yashpal Tomar (Photo: Newstrack)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Meerut: उत्तर प्रदेश की मेरठ पुलिस ने आज भू माफिया गैंगस्टर यशपाल तोमर की वेदव्यासपुरी में कोठी को जब्त कर लिया। कोठी की कीमत 2 करोड़ 10 लाख रुपये है। पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के दौरान किसी भी प्रकार के हंगामें से निपटने के लिए कोठी के आसपास भारी पुलिस-फोर्स तैनात किया गया था। इसके पहले भी पुलिस दादरी में यशपाल तोमर की करोंड़ों की संपत्ति को जब्त कर चुकी है। बागपत के बरवाला गांव निवासी भूमाफिया यशपाल तोमर इस समय हरिद्वार की रोशनाबाद जेल में बंद है।

एएसपी ब्रह्मपुरी विवेक यादव ने बताया कि एसएसपी रोहित सिंह सजवान और मजिस्ट्रेट के आदेश के तहत पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट (14/1) के तहत पुलिस ने यह कार्रवाई की है। उन्होंने बताया कि बागपत के रमाला गांव निवासी यशपाल तोमर लोगों पर फर्जी मुकदमे दर्ज कराकर उनकी संपत्ति ले लेता था। ब्रह्मपुरी में थाने में यशपाल तोमर ने पुलिस से साठगांठ डेढ़ साल पहले दिल्ली के प्रॉपर्टी डीलर गिरधारी लाल और उसके ड्राइवर को गोली मरवाई और फिर मुकदमा दर्ज कराकर जमीन ले ली। गिरधारी लाल का अपने भाई से विवाद चल रहा था। इस मामले की जांच में यशपाल तोमर का मामला उजागर हुआ था। यशपाल समेत दो लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ। उसी मामले में यशपाल तोमर पर गैंगस्टर लगाया गया। यशपाल तोमर जो कि नोएडा के चिटहेरा गांव में भूमि घोटाले का मुख्य आरोपी भी है के खिलाफ मेरठ के अलावा उत्तराखंड, मेरठ, बागपत, नोएडा में 20 आपराधिक मु़कदमे दर्ज हैं।

एएसपी के अनुसार नोएडा में जिन किसानों ने यशपाल तोमर को जमीन नहीं दी और प्राधिकरण को बेच दी, उन किसानों पर यशपाल तोमर ने पंजाब, हरियाणा और दूसरे राज्यों में पुलिस से साठगांठ कर फर्जी मुकदमे दर्ज कराए। इसके बाद उक्त किसानों से यशपाल ने मुकदमा खत्म कराने के लिए पैसा ले लिया। वह पैसा यशपाल के एक करीबी के बैंक अकांउंट में गया। उसी पैसे से मेरठ में कोठी खरीदी गई है।

मेरठ पुलिस के अनुसार यशपाल तोमर की तीन महीने पहले हरिद्वार एसटीएफ ने हरिद्वार में 153 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई।


Rakesh Mishra

Rakesh Mishra

Next Story